Create

इन कारणों से चेहरे पर हो सकते हैं मुंहासे - In karno se chehre par ho sakte hai muhase

इन कारणों से चेहरे पर हो सकते हैं मुंहासे
इन कारणों से चेहरे पर हो सकते हैं मुंहासे

चेहरे पर पिंपल्स निकलने की समस्या आमतौर पर टीन ऐज से जोड़कर देखी जाती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इस उम्र में हमारे शरीर में तेजी से हार्मोनल बदलाव हो रहे होते हैं। इस कारण हार्मोन्स लेवन डिस्टर्ब होने से हमारी स्किन पर पिंपल्स आने लगते हैं। हर लड़की को बेदाग और चमकता चेहरा पसंद है। पिंपल्स की वजह धूल और प्रदूषण भी हो सकते हैं। पिंपल्स और अन्य त्वचा संबंधी समस्याओं को दूर करने के लिए हम अलग-अलग तरह के प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करते हैं।

इन कारणों से चेहरे पर हो सकते हैं मुंहासे - In karno se chehre par ho sakte hai muhase in hindi

स्किन केयर प्रोडक्ट्स बदलने से (Changing skin care products frequently can also cause pimples)

बार-बार प्रोडक्ट्स बदलने से स्किन से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए अपनी स्किन टाइप के हिसाब से प्रोडक्ट्स का चुनाव करना चाहिए। मुंहासों को ठीक करने के लिए एंटी एक्ने प्रोडक्ट्स, क्रीम्स और सोल्यूशन का इस्तेमाल कर सकती हैं। अगर ऑर्गेनिक प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करती हैं तो चेहरे की चमक बनी रहेगी और इससे जुड़ी समस्याओं से निजात मिलेगा।

जरूरत से ज्यादा प्रोसेस्ड फूड खाने से भी हो सकते हैं पिंपल्स (excessively processed food cause pimples)

जरूरत से ज्यादा रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट और प्रोसेस्ड फूड खाना स्किन के लिए हानिकारक है। इसके ज्यादे सेवन से चेहरे पर पिंपल्स और मुहासों की समस्या होनी शुरू हो जाती हैं। क्योंकि, इसके यह आपके शरीर में इंसुलिन को बढ़ाता है और मेटाबॉलिज्म को कम करता है।

कब्ज (Constipation can cause acne)

पेट संबंधी समस्या के चलते भी चेहरे पर पिंपल्स की समस्या हो जाती है। जब खान-पान ठीक से नहीं हो पाता और पेट संबंधी समस्याएं बनने लगती हैं तो इसके कारण हमारे शरीर के विषाक्त तत्व बाहर नहीं निकल पाते और इसका असर हमारे चेहरे पर पिंपल्स के रूप में दिखने लगता है।

स्ट्रेस के कारण पिंपल्स (Pimples due to stress)

स्ट्रेस के चलते भी चेहरे पर पिंपल्स की समस्या हो सकती है। इसलिए तनाव से बचाव के तरीके अपनाएं। तनाव के चलते हमारे शरीर में हैप्पी हार्मोन रिलीज होना कम हो जाता है। दिमाग को हैप्पी और रिलैक्स रखने में डोपामाइन और एंडोर्फिन नाम के हॉर्मोन्स अहम होते हैं। लेकिन स्ट्रेस के चलते इनका बनना कम हो जाता है और शरीर हार्मोनल डिसबैलेंस का शिकार हो जाती है जिसका, उसर आपके चेहरे पर दिखने लगता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
Be the first one to comment