इन कारणों से शरीर में ठीक से नहीं होता विटामिन डी का अब्ज़ॉर्प्शन : In Karno Se Sharir Me Thik Se Nahi Hota Vitamin D Ka Absorption

इन कारणों से शरीर में ठीक से नहीं होता विटामिन डी का अब्ज़ॉर्प्शन (फोटो - sportskeeda hindi)
इन कारणों से शरीर में ठीक से नहीं होता विटामिन डी का अब्ज़ॉर्प्शन (फोटो - sportskeeda hindi)

आज के समय में लोग प्रोटीन (Protein) या कैल्शियम (calcium) को ही शरीर के लिए आवश्यकता न्यूट्रिएंट्स मानते हैं। लेकिन व्यक्ति के शरीर को कई तरह के विटामिन्स की आवश्यक होती हैं। इन्हीं में से एक है विटामिन डी। शरीर में पर्याप्त मात्रा में विटामिन डी ना केवल कैल्शियम के अब्ज़ॉर्प्शन में मददगार होता है, बल्कि यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी मजबूत बनाता है। इसलिए लोगों को सनलाइट यानि सूरज की पहली किरण के साथ-साथ विटामिन डी युक्त फूड खाने की सलाह दी जाती है। तो चलिए जानते हैं जो शरीर में विटामिन डी के अवशोषण में रूकावट पैदा करते हैं।

इन कारणों से शरीर में ठीक से नहीं होता विटामिन डी का अब्ज़ॉर्प्शन -

सही तरह से सनलाइट ना लेना - हर किसी को पता होगी कि विटामिन डी (Vitamin D) का सबसे अच्छा स्त्रोत सूरज की किरणों को माना जाता है। लेकिन लोग अक्सर अपने आपको पूरी तरह कवर करके व सनस्क्रीन आदि लगाकर सनलाइट में जाते हैं। जिसका नुकसान यह होता है कि इससे शरीर में सनलाइट से मिलने वाला विटामिन डी सही तरह से अब्जॉर्ब नहीं हो पाता है।

दवाईयों के बीच में गैप ना करना - अक्सर कई लोग दवाईयां लेने के तुरंत बाद विटामिन डी रिच फूड या सप्लीमेंट का सेवन करते हैं। लेकिन ऐसा करने से सेहत को नुकसान होता है। दरअसल, ऐसी कई दवाईयां होती हैं, जो शरीर में विटामिन डी व अन्य पोषक तत्वों के अवशोषण में बाधा पैदा करती हैं।

लो फैट डाइट को फॉलो करना - आज के समय में लोग अपने वजन को कम करने की वजह से लो फैट डाइट (Low Fat Diet) लेना ज्यादा पसंद करते हैं। लेकिन इसकी वजह से शरीर में विटामिन डी की बहुत अधिक कमी हो जाती है। शायद आपको पता ना हो, लेकिन शरीर में विटामिन डी को अब्जार्ब होने के लिए गुड फैट की जरूरत होती है। लेकिन अगर आपकी डाइट से गुड फैट ही गायब होंगे तो ऐसे में शरीर में विटामिन डी का अवशोषण नहीं होगा।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan