Create

जैतून के तेल के 10 फायदे : Jaitun Ke Tel ke 10 Fayde

जैतून के तेल के फायदे (फोटो - web dunia)
जैतून के तेल के फायदे (फोटो - web dunia)
reaction-emoji
Naina Chauhan

जैतून के तेल को जैतून के फलों से निकाला जाता है। यह विटामिन, मिनरल, एंटीऑक्सीडेंट और कई अन्य गुणों से भरपूर होता है। जैतून का तेल न सिर्फ सेहत के लिए फायदेमंद है, बल्कि यह कई औषधीय गुणों से भरपूर है, इसलिए वर्षों से इसका उपयोग किया जा रहा है। एक वक्त था जब जैतून का तेल सिर्फ खाना बनाने के काम आता था, लेकिन इसके फायदे पता चलने के बाद लोग इसे स्किन केयर, बालों के लिए और अन्य कई चीजों के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। जानते हैं इस तेल के फायदे।

जैतून के तेल के 10 फायदे : Jaitun Ke Tel ke 10 Fayde In Hindi

1 . वजन कम करने के लिए - आज के समय में अपनी जीवनशैली में कोई भी खान-पान पर ध्यान नहीं देता। जिसकी वजह से उनका वजन बढ़ने लगता है। हालांकि, कुछ लोग डाइटिंग करने की कोशिश करते हैं, लेकिन ऐसा ज्यादा दिन तक नहीं चल पाता। ऐसे में जैतून का तेल (ऑलिव ऑयल) आपकी मदद कर सकता है। आप खाना बनाने में ऑलिव का उपयोग कर सकते हैं, जिससे खाने का स्वाद तो बढ़ेगा ही साथ ही वजन भी कम होगा।

2 . कब्ज - लोगों का सही खान-पान न होने की वजह पेट संबंधी परेशानियां लगी रहती हैं। कब्ज उन्हीं समस्याओं में से एक है। कब्ज की परेशानी में अगर जैतून के तेल का सेवन किया जाए, तो इससे काफी हद तक छुटकारा मिल सकता है। जैतून का तेल गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट (gastrointestinal tract) और पेट के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है।

3 . शुगर के लिए - आज के समय में खान-पान और गलत दिनचर्या की वजह से लोगों को शुगर (मधुमेह) की बीमारी बढ़ती जा रही है। अगर एक बार किसी को मधुमेह हो जाए, तो फिर उसे हमेशा संभलकर रहना होता है और अपने खाना-पान का खास ध्यान रखना होता है। ऐसे में जैतून के तेल (olive oil benefits in diabetes) का सेवन मधुमेह के मरीजों के लिए लाभकारी साबित हो सकता है।

4 . आंखों के लिए - आंखें व्यक्ति के शरीर का अहम हिस्सा होती हैं। वहीं, आजकल लोग पूरा दिन कंप्यूटर, टीवी और मोबाइल पर लगे रहते हैं, जिसकी वजह से आंखों पर काफी जोर पड़ता है। इस कारण वक्त के साथ-साथ आंखों की रोशनी कम होती चली जाती है। ऐसे में जरूरी है कि आप वक्त रहते इस पर ध्यान दें। आंखों की देखभाल के लिए आप जैतून के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

5 . कोलेस्ट्रॉल के लिए - कोलेस्ट्रॉल गंभीर समस्या बन चुकी है। कोलेस्ट्रॉल से बचने के लिए आप ऑलिव ऑयल का सेवन कर सकते हैं। इसमें बहुत कम मात्रा में सैचुरेटेड फैट होता है और यह गुण इसे शरीर में रक्त कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने की क्षमता देते हैं।

6 . दिमाग के लिए - लोगों में बढ़ता तनाव, चिंता और अन्य कई कारणों से मानसिक स्थिति पर बुरा असर पड़ रहा है। ऐसे में कई लोग उम्र के साथ-साथ अल्जाइमर (Alzheimer’s) जैसी बीमारी का शिकार होने लगे हैं। ऐसे में जैतून का तेल (ऑलिव ऑयल या वर्जिन ऑलिव ऑयल) के सेवन से अल्जाइमर जैसी याददाश्त संबंधी परेशानी से बचा जा सकता है।

7 . हड्डियों के लिए - लोगों की बढ़ती उम्र के साथ-साथ हड्डियां कमजोर होने लगती हैं। वहीं घंटों कुर्सी पर बैठे रहना और गाड़ी में सफर करना हड्डियों में दर्द के कारण बन रहा है। अगर वक्त रहते इन पर ध्यान न दिया गया, तो यह गंभीर रूप भी ले सकते हैं। ऐसे में इससे बचने के लिए आप अपने आहार में जैतून के तेल को शामिल करें। ऑलिव ऑयल से हड्डियों की बीमारी ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis) से बचा जा सकता है।

8 . सूजन के लिए - अगर किसी के शरीर में सूजन आती है तो इसकी वजह से भी कई बीमारियां होने लगती है। ऐसे में सूजन से बचने के लिए आप जैतून के तेल का सेवन कर सकते हैं। इसमें ओलियोकैंथोल होता है, जो एक एंटीइंफ्लेमेटरी दवा आइबूप्रोफेन (ibuprofen) की तरह काम करता है।

9 . दिल के लिए - आजकल लोगों को काम का तनाव, गलत खान-पान, चिंता और अन्य कई कारणों की वजह से दिल की बीमारी होने का खतरा बढ़ने लगा है। अगर इस पर ध्यान न दिया जाए, तो दिल के दौरे की आशंका बढ़ जाती है। ऐसे में जरूरी है किसी को नियमित व्यायाम करना चाहिए और अपने खान-पान पर ध्यान दें। आप अपने भोजन में जैतून के तेल को जरूर शामिल करें। जैतून का तेल ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है, कोलेस्ट्रॉल के खतरे को कम करता है और दिल के दौरे व ह्रदय संबंधी अन्य बीमारियों से बचाता है।

10 . त्वचा के लिए - अगर किसी की त्वचा पर पिंपल हो जाएं तो वह आपकी खूबसूरती पर दाग लगा सकते हैं। कई बार लोग पिंपल के लिए तरह-तरह की क्रीम, लोशन व फेसवॉश प्रयोग करते हैं, लेकिन इनके साइड-इफेक्ट हो सकते हैं। ऐसे में अगर जैतून के तेल का उपयोग किया जाए, तो कुछ हद तक पिंपल से चेहरे का बचाव किया जा सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Naina Chauhan
reaction-emoji

Comments

comments icon
Fetching more content...