Create
Notifications

कच्चे दूध के नुकसान : Kacche Doodh Ke Nuksan

कच्चा दूध के नुक्सान क्या होते हैं? (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
कच्चा दूध के नुक्सान क्या होते हैं? (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
Vineeta Kumar
visit

विश्व भर में, दूध की खपत सुबह के नाश्ते से लेकर रात के खाने तक होती हैं। यह शरीर में ऊर्जा प्रदान करके, पूर्ण रूप से खाने में प्रोटीन की मात्रा ना मिलने पर यह दिनचर्या के प्रोटीन की कमी को पूरा करता है। दूध में कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं। परन्तु बिना उबाले या पकाए हुए दूध (Raw Milk) का सेवन स्वास्थ के लिए हानिकारक हो सकता है।

कच्चे दूध के नुकसान : Kacche Doodh Ke Nuksan In Hindi

कच्चे दूध से होने वाले नुकसान जो आपको पता होने चाहिए (Disadvantages of having raw milk)

कच्चा दूध गायों, भेड़ों और बकरियों - या किसी अन्य जानवर का दूध है - जिसे हानिकारक जीवाणुओं को मारने के लिए पास्चुरीकृत (pasteurized) नहीं किया गया है। कच्चा दूध खतरनाक बैक्टीरिया जैसे साल्मोनेला (salmonella), E.coli, लिस्टेरिया, कैम्पिलोबैक्टर और अन्य मौजूद हो सकते है जो खाद्य जनित बीमारी का कारण बनते हैं, जिन्हें अक्सर "फूड पॉइज़निंग" कहा जाता है।

ये बैक्टीरिया कच्चे दूध पीने वाले या कच्चे दूध से बने उत्पादों को खाने वाले किसी भी व्यक्ति के स्वास्थ्य को गंभीर रूप से नुकसान पहुंचा सकते हैं। हालांकि, कच्चे दूध में बैक्टीरिया कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों (जैसे प्रत्यारोपण रोगियों और HIV/एड्स, कैंसर और मधुमेह वाले व्यक्तियों), बच्चों, वृद्ध वयस्कों और गर्भवती महिलाओं के लिए विशेष रूप से खतरनाक हो सकते हैं। वास्तव में, CDC ने पाया कि कच्चे दूध से खाद्य जनित बीमारी विशेष रूप से बच्चों और किशोरों को प्रभावित करती है, कुछ लोगों में कच्चा दूध का सेवन किडनी फेल, स्ट्रोक, पैरालिसिस का कारण बन सकता है।

बीमारी का खतरा सबसे ज्यादा किसे है? (Who’s most at risk of illness)

1. अधिकांश स्वस्थ लोग इन जीवाणुओं के कारण होने वाली उल्टी, दस्त, पेट दर्द और फ्लू जैसे लक्षणों से जल्दी ठीक हो जाते हैं।

2. वृद्ध लोग, बच्चे, गर्भवती महिलाएं और कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोग बहुत जल्दी बीमार हो सकते हैं। लक्षण पुराने, गंभीर और यहां तक कि जानलेवा भी हो सकते हैं।

3. यदि आप कच्चे दूध का सेवन करने के बाद बीमार हो जाते हैं तो तुरंत देखभाल करें - खासकर यदि आप गर्भवती हैं। लिस्टेरिया (Listeria) गर्भपात और भ्रूण या नवजात मृत्यु का कारण बन सकता है।

4. मिल्क प्रोटीन से सेंसिटिव लोगों में कच्चा व पॉइस्चराइज दोनों तरह के दूध से ही एलर्जी की शिकायत हो सकती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now