Create

कच्चा पपीता खाने के फायदे और नुकसान-Kacha Papita Khane Ke Fayde Aur Nuksan

कच्चा पपीता खाने के फायदे और नुकसान(फोटो-Sportskeeda hindi)
कच्चा पपीता खाने के फायदे और नुकसान(फोटो-Sportskeeda hindi)

पपीता (Papaya) स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद फल माना जाता है। पपीता पेट के लिए सबसे ज्यादा लाभदायक साबित होता है। ज्यादातर लोग पके पपीता का सेवन करते हैं, लेकिन पका पपीता जितना फायदेमंद साबित होता है, उससे भी ज्यादा कच्चा पपीता (Raw papaya) स्वास्थ्य के लिए लाभदायक साबित होता है। कच्चा पपीता स्वास्थ्य के साथ-साथ स्किन को भी लाभ पहुंचाता है। कच्चा पपीता में विटामिन सी, विटामिन बी, विटामिन ए, विटामिन ई, मैग्नीशियम और पोटैशियम की भरपूर मात्रा पाई जाती है। कच्चा पपीता खाने के कई फायदे होते हैं, तो कुछ नुकसान भी हैं। जानिए कच्चा पपीता खाने के फायदे और नुकसान क्या-क्या है।

कच्चा पपीता खाने के फायदे और नुकसान (Kacha Papita Khane Ke Fayde Aur Nuksan In Hindi)

कच्चा पपीता खाने के फायदे

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है

कच्चा पपीता में विटामिन सी की भरपूर मात्रा पाई जाती है। इसलिए इसके सेवन से रोग-प्रतिरोधक (Immunity) क्षमता बढ़ती है। जिससे किसी भी बीमारी से काफी हद तक बचा जा सकता है।

वजन आसानी से होता है कम

कच्चा पपीता में फाइबर की अच्छी मात्रा पाई जाती है। इसलिए इसके सेवन से वजन आसानी से कम किया जा सकता है। अगर आपको वजन कम करना हो, तो आपको कच्चे पपीता का सेवन करना चाहिए।

लिवर होता है मजबूत

कच्चे पपीता का सेवन करने से लिवर (Liver) स्वस्थ रहता है। अगर किसी को पीलिया की शिकायत हो, तो उसे कच्चा पपीता खाना चाहिए। क्योंकि इसके सेवन से लिवर मजबूत होता है। इसके लिए आप कच्चे पपीता का सलाद बनाकर सेवन कर सकते हैं।

स्किन के लिए फायदेमंद

कच्चा पपीता सिर्फ स्वास्थ्य को ही नहीं बल्कि स्किन (Skin) को भी लाभ पहुंचाता है। कच्चे पपीता में कई विटामिन्स पाए जाते हैं, जो स्किन के लिए फायदेमंद साबित होते हैं। इसके सेवन से त्वचा पर ग्लो आता है। साथ ही पिंपल्स और दाग धब्बों की शिकायत भी दूर होती है।

पेट के लिए फायदेमंद

कच्चा पपीता पेट के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। कच्चे पपीता का सेवन करने से पेट संबंधी बीमारियां दूर होती है। साथ ही पाचन तंत्र (Digestion) भी मजबूत होता है। लेकिन ज्यादा मात्रा में इसका सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसमें फाइबर की अधिक मात्रा होती है।

यूरिन इंफेक्शन की शिकायत होती है ठीक

कच्चा पपीता का सेवन करने से यूरिन इंफेक्शन (Urine infection) की शिकायत ठीक हो जाती है। क्योंकि कच्चा पपीता इंफेक्शन की परेशानी को खत्म करके बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकता है।

कच्चा पपीता खाने के नुकसान

गर्भवती महिलाओं को नहीं करना चाहिए सेवन

कच्चा पपीता का सेवन गर्भवती महिलाओं (Pregnant Women) को नहीं करना चाहिए। क्योंकि कच्चा पपीता खाने से गर्भपात का खतरा रहता है।

अस्थमा की हो सकती है बीमारी

कच्चा पपीता के सेवन से अस्थमा (Asthma) और घरघराहट (wheezing) जैसी बीमारियां हो सकती हैं। इसलिए कच्चे पपीता का ज्यादा मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए।

एलर्जी की हो सकती है शिकायत

पपीते में मौजूद पपेन से एलर्जी (Allergy) होने की संभावना बनी रहती है। इसलिए इसके सेवन से सूजन, चक्कर आना, सिरदर्द, चकत्ते और त्वचा पर खुजली होने जैसी शिकायत हो सकती है।

बच्चों को नहीं करना चाहिए सेवन

छोटे बच्चों को कच्चे पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसमें फाइबर की बहुत अधिक मात्रा पाई जाती है। इसलिए इसके सेवन से बच्चों को कब्ज की शिकायत हो सकती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Rakshita Srivastava
Be the first one to comment