Create

खजूर खाने के फायदे - Khajur Khane Ke Fayde

खजूर खाने के फायदे (फोटो -Lifestyletips )
खजूर खाने के फायदे (फोटो -Lifestyletips )

खजूर (Dates) एक ड्राई फ्रूट्स (Dry Fruits) है। जिसे औषधीय गुणों का खजाना कहा जाता है। इसके सेवन से कई बीमारियां दूर होती है। खजूर में एंटीऑक्सीडेंट्स काफी मात्रा में पाया जाता है। साथ ही इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, पोटैशियम, फाइबर, कॉपर और सेलेनियम जैसे कई तत्व मौजूद होते हैं। जो स्वास्थ्य के लिहाज से काफी लाभदायक साबित होते हैं। खजूर का रोजाना सेवन करने से शरीर में एनर्जी मिलती है।

खजूर खाने के फायदे (Khajur Khane Ke Fayde In Hindi)

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है

खजूर में एंटीऑक्सीडेंट्स (Antioxidant) काफी मात्रा में पाया जाता है। जिसके सेवन से रोग प्रतिरोधक (Immunity) क्षमता बढ़ती है। जिससे किसी भी बीमारी से आसानी से बचा जा सकता है।

हड्डियां होती है मजबूत

खजूर में कैल्शियम की मात्रा पाई जाती है। इसलिए इसके सेवन से हड्डियां (Bones) मजबूत होती है। जिन लोगों की हड्डियां कमजोर होती है उनको रोजाना 3-4 खजूर का सेवन जरूर करना चाहिए।

त्वचा पर आता है ग्लो

खजूर में विटामिन सी की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद साबित होती है। रोजाना 2-3 खजूर का सेवन करने से त्वचा पर ग्लो (Glowing skin) आता है।

कब्ज की समस्या होती है दूर

जिन लोगों को कब्ज की समस्या होती है या पेट संबंधी कोई भी शिकायत होती है, उनको खजूर का सेवन करना चाहिए। इसके सेवन से खाना अच्छी तरह से पचता है। इसके लिए आपको खजूर को रात में ही पानी में भीगोकर रख देना है। फिर सुबह खाली पेट उसका सेवन करना है।

खून की कमी होती है दूर

जिन लोगों को एनीमिया (Anemia) यानी शरीर में खून के कमी की शिकायत होती है, उनको रोजाना खजूर का सेवन जरूर करना चाहिए। रोजाना 4-5 खजूर खाने से शरीर से खून की कमी दूर होती है।

वजन बढ़ाने में करता है मदद

जिन लोगों का वजन नहीं बढ़ रहा है। उन लोगों को दूध के साथ 4-5 खजूर का सेवन करना चाहिए। इसके सेवन से जल्द ही वजन बढ़ जाता है।

घबराहट की समस्या नहीं होती

खजूर में विटामिन बी की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। जो कि नर्वस सिस्टम को स्वस्थ्य बनाता है। साथ ही खजूर का रोजाना सेवन करने से घबराहट होने की समस्या खत्म हो जाती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Rakshita Srivastava
Be the first one to comment