Create
Notifications

खर्राटों का देसी इलाज : Natural Remedy For Snoring

ज़रूर जाने खर्राटों के लिए यह देसी इलाज (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
ज़रूर जाने खर्राटों के लिए यह देसी इलाज (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
Vineeta Kumar
visit

सोते समय खर्राटे (Snoring) लेना एक सामान्य समस्या है, जो आप से ज़्यादा दूसरों को तकलीफ दे सकती है। जो व्यक्ति खर्राटे लेता है, उसे तो इसका एहसास कम ही होता है, लेकिन साथ में सोने वाले की नींद पूरी तरह खराब हो जाती है। इस स्तिथि में, आप अक्सर झिझकते हैं और इस परेशानी को सबके सामने स्वीकार नहीं कर पाते हैं और ना ही इसके उपाय के बारे में किसी से बात कर पाते हैं।

खर्राटे तब आते हैं जब गले में शिथिल संरचनाएं कंपन करती हैं और शोर करना शुरू कर देती हैं। इसे अक्सर नींद की बीमारी माना जाता है और भारी खर्राटों के गंभीर चिकित्सीय और सामाजिक परिणाम हो सकते हैं। इस लेख में आप खर्राटों के उपचार के बारे में जान पाएंगे। इस लेख में दिए गए देसी इलाज इन्हें कम करने में कुछ हद तक मदद कर सकते हैं, लेकिन समस्या अगर ज्यादा है, तो डॉक्टरी इलाज जरूर करवाएं।

खर्राटों का देसी इलाज : Natural Remedy For Snoring In Hindi

1. पेपरमिंट (Peppermint)

यदि शुष्क हवा और भीड़भाड़ आपके खर्राटों का कारण बन रही है, तो सोने से लगभग 30 मिनट पहले पेपरमिंट ऑयल की कुछ बूंदों को ह्यूमिडिफायर (Humidifier) में मिलाएं और इसे चालू करें। यह आपके वायुमार्ग को खोलने में मदद करेगा ताकि आप खर्राटे न लें। या एक गिलास पानी में एक या दो बूंद पेपरमिंट ऑयल की मिलाएं। सोने से पहले इससे गरारे करें। ऐसा रोजाना तब तक करें जब तक आपको मनचाहा परिणाम न मिल जाए।

2. जैतून का तेल (Olive Oil)

गले में कंपन को कम करने और खर्राटों को रोकने के लिए नियमित रूप से ओलिव आयल का प्रयोग करें। रोजाना सोने से पहले जैतून के तेल के दो या तीन घूंट लें। आधा चम्मच जैतून का तेल और शहद मिलाएं। रोजाना सोने से पहले इसका सेवन करें। जैतून का तेल सभी श्वसन मार्गों के ऊतकों को आसान बनाता है, हवा के लिए एक स्पष्ट मार्ग प्रदान करने के लिए सूजन को कम करता है। यह दर्द को भी कम कर सकता है।

3.इलायची (Cardamom)

इलायची एक कफ निस्सारक और सर्दी-खांसी की दवा है, जो इसे बंद नाक के मार्ग को खोलने के लिए प्रभावी बनाती है। मुक्त वायु मार्ग से खर्राटे कम आएंगे। एक गिलास गर्म पानी में आधा चम्मच इलायची पाउडर मिलाएं। इसे सोने से 30 मिनट पहले पिएं। अपने खर्राटों को धीरे-धीरे कम करने के लिए ऐसा रोजाना करें।

4. बिच्छू बूटी (Nettle)

यदि आप वर्ष के किसी विशेष समय में केवल खर्राटे लेते हैं, तो यह किसी प्रकार की मौसमी एलर्जी के कारण हो सकता है। इस प्रकार के अस्थायी खर्राटों का इलाज बिच्छू बूटी के साथ किया जा सकता है जिसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और साथ ही एंटीहिस्टामाइन गुण होते हैं। एक कप उबलते पानी में एक चम्मच सूखे perennial nettle के पत्ते डालें। इसे पांच मिनट तक भीगने दें और फिर छान लें। सोने से ठीक पहले इसकी गर्म चाय बनाकर पिएं।

5. शहद (Honey)

शहद के एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के कारण यह लाभदायक है। शहद गले को चिकनाई देता है, जो खर्राटों के कंपन को होने से रोकता है। एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर रोज़ाना सोने से पहले पिएं। वैकल्पिक रूप से, आप हर्बल चाय जैसे कैमोमाइल टी या ग्रीन टी को मीठा करने के लिए शहद का उपयोग कर सकते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
Fetching more content...
Article image

Go to article
App download animated image Get the free App now