Create

खसखस के फायदे: Khaskhas ke Fayde

फोटो- sabkuchgyan
फोटो- sabkuchgyan
reaction-emoji
Naina Chauhan

आज के समय में लोगों को हर रोज कोई न कोई नई बीमारी हो रही है। जिसके पीछे का कारण गलत खान पान शामिल है। लोगों को हेल्दी रहने के लिए स्वस्थ आहार और कुछ घरेलू उपाय अपनाने की जरूरत है। जिसकी लिए डाइट में ऐसी चीज का इस्तेमाल करना चाहिए जो बीमारियों से बचा सकें। अगर आप दूध के साथ खसखस लेते हैं तो आप कई बीमारियों से बच सकते हैं। खसखस में ओमेगा-3 और ओमेगा-6, फैटी एसिड, प्रोटीन, फाइबर, थायमिन, कैल्शियम और मैंगनीज आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं जो शरीर को हैल्दी रखने में मदद करते हैं।

इसे भी पढ़ें: हाई ब्लड प्रेशर में अंडा खाना चाहिए या नहीं: High Blood Pressure Mein Anda Khana Chahie Ki Nahin

खसखस के फायदे-

अनिद्रा दूर करे- जिन लोगों को नींद ना आने की समस्या रहती है उसके लिए खसखस का सेवन फायदेमंद होता है। इसके सेवन से नींद आसानी से आ जाती है। सोने से पहले खसखस के पेस्ट को गर्म दूध के साथ लें, राहत मिलेगी।

सांस की परेशानी दूर करे- खांसी को कम करने के लिए और सांस संबंधी समस्या के इलाज में खसखस बहुत कारगर हो सकती है।

मुंह के छाले दूर करें- अगर किसी को मुंह के छाले हो रहे हैं और ये छाले कष्टदायक हैं, तो इसके लिए खसखस का सेवन करें क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है। यह पेट की गर्मी को शांत कर मुंह के छालों से आराम दिलाने में मदद कर सकता है।

इसे भी पढ़ें: चिरायता के फायदे: Chirata ke Fayde

वजन घटाने के लिए- जो लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं उनके लिए खसखस के बीज बहुत फायदेमंद है क्योंकि इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है जो वजन कम करने में मदद करता है। इसके लिए रोजाना कुछ दाने खाएं।

ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के लिए- अगर किसी का ब्लड प्रेशर कंट्रोल में नहीं रहता तो इसके लिए खसखस का सेवन लाभकारी होता है, क्योंकि इसमें पोटैशियम पाया जाता है जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद करता है।

खसखस के प्रकार-

खसखस के तीन प्रकार होते हैं, नीले खसखस जो ज्यादातर ब्रेड और कन्फेक्शनरी (स्वीट एंड चॉकलेट) में देखे जाते हैं। सफेद खसखस जिसका इस्तेमाल अधिकतर व्यंजनों में किया जाता है और ओरिएंटल खसखस जिससे अफीम पैदा की जाती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

इसे भी पढ़ें: मुलेठी के नुकसान: Mulethi Ke Nuksan


Edited by Naina Chauhan
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...