सूरज की रोशनी आंखों और दिमाग के लिए कैसे है लाभकारी, जानिए!

Know how sunlight is beneficial for the eyes and brain!
सूरज की रोशनी आंखों और दिमाग के लिए कैसे है लाभकारी, जानिए!

सूर्य का प्रकाश हमारे समग्र स्वास्थ्य और कल्याण को बढ़ावा देने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। विटामिन-डी आपके शरीर के लिए एक बेहद ही ज़रूरी पोषण तत्व है. सूरज की रोशनी हमारी आंखों और मस्तिष्क के लिए भी महत्वपूर्ण लाभ प्रदान करती है। जिसके कई लाभ हमें हमारी दैनिक जीवन में देखने को मिलते हैं. इसलिए आज हम जानेंगे कि कैसे सूर्य की रौशनी हमारे शरीर के इन महत्वपूर्ण भागों पर कैसे सकारात्मक प्रभाव डाल सकती है।

निम्नलिखित बिन्दुओं के माध्यम से जाने, ध्यान दें:-

बेहतर दृष्टि:

सूर्य के प्रकाश का हमारी दृष्टि पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है, इसके नीले प्रकाश घटक के कारण। नीली रोशनी हमारी आंतरिक शारीरिक घड़ी को विनियमित करने में मदद करती है, जिसे सर्कैडियन लय के रूप में जाना जाता है, जो हमारे नींद-जागने के चक्र को नियंत्रित करती है। जब हम दिन के दौरान प्राकृतिक सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आते हैं, तो यह हमारी आंतरिक घड़ी को सेट करने में मदद करता है, जिससे नींद की गुणवत्ता बेहतर होती है और दिन के दौरान अधिक सतर्कता मिलती है।

मायोपिया से बचाव:

सूरज की रौशनी मायोपिया से बचाव करने में सक्षम!
सूरज की रौशनी मायोपिया से बचाव करने में सक्षम!

इस बात के प्रमाण हैं कि बाहरी गतिविधियाँ और प्राकृतिक धूप में समय बिताने से मायोपिया या निकट दृष्टिदोष से बचाव में मदद मिल सकती है। मायोपिया काफी लोगों को है, खासकर युवा लोगों में जो अपना काफी समय घर के अंदर पढ़ने या इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का उपयोग में बिताते हैं। बता दें की सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आने से मायोपिया विकसित होने का जोखिम कम हो जाता है,

मूड और मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देना:

सूरज की रोशनी हमारे मूड और मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। सूरज की रोशनी के संपर्क में आने से सेरोटोनिन का स्राव शुरू हो जाता है, जिसे अक्सर "खुशी का हार्मोन" कहा जाता है। सेरोटोनिन का उच्च स्तर बेहतर मूड, कम चिंता और खुशी की भावनाओं में वृद्धि से जुड़ा है। नतीजतन, पर्याप्त धूप मिलने से हमारे मानसिक स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है, जिससे अवसाद और मौसमी भावात्मक विकार (एसएडी) के लक्षणों को कम करने में मदद मिलती है।

youtube-cover

संज्ञानात्मक कार्य:

कई अध्ययनों ने सूर्य के प्रकाश के संपर्क और बेहतर संज्ञानात्मक कार्य के बीच सकारात्मक संबंध दिखाया है। प्राकृतिक प्रकाश के संपर्क में आने से मस्तिष्क-व्युत्पन्न न्यूरोट्रॉफिक कारक (बीडीएनएफ) नामक प्रोटीन का उत्पादन उत्तेजित होता है, जो मस्तिष्क कोशिकाओं के विकास और रखरखाव को बढ़ावा देता है। नतीजतन, सूरज की रोशनी स्मृति, फोकस और समग्र संज्ञानात्मक प्रदर्शन को बढ़ाने में मदद कर सकती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by वैशाली शर्मा
App download animated image Get the free App now