Create
Notifications

लकवे का घरेलू इलाज : Paralysis Ka Gharelu Ilaaj   

लकवे का घरेलू इलाज (source - sportskeeda hindi)
लकवे का घरेलू इलाज (source - sportskeeda hindi)
Vineeta Kumar
visit

लकवा (Paralysis) अनुचित मांसपेशी फंक्शन के कारण होता है, जिसके परिणामस्वरूप आमतौर पर शरीर के उस हिस्से में हानि होती है जो प्रभावित होता है। यह ज्यादातर रीढ़ की हड्डी को नुकसान का परिणाम है जो शरीर के सेंट्रल नर्वस सिस्टम को प्रभावित करता है। ग्लोबल रिसर्च के अनुसार, 50 में से 1 व्यक्ति को अपने जीवनकाल में किसी न किसी प्रकार के लकवे से जूझना पड़ता है। एक व्यक्ति कई कारणों से लकवे से पीड़ित हो सकता है, जिसमें शामिल हैं - सदमा (trauma), पोलियो (polio), नर्व डैमेज (nerve damage), मल्टीपल स्केलेरोसिस (multiple sclerosis), स्ट्रोक (stroke), सेरेब्रल पाल्सी (cerebral palsy) और साथ ही अन्य चिकित्सा मुद्दे। लकवे के अन्य लक्षण भी हो सकते हैं जैसे - बेहोशी, भ्रम, सिरदर्द, लार आना और व्यवहार में परिवर्तन, बोलने या लिखने में समस्या, मतली व देखने में दिक्कत होना।

पूर्ण, आंशिक, स्थानीयकृत, सामान्यीकृत, लॉक-इन सिंड्रोम लकवे के कुछ प्रकार हैं। लकवे की पहचान करने के लिए डॉक्टर्स एक्स-रे, MRI स्कैन, CT स्कैन, मायलोग्राफी (myelography), इलेक्ट्रोमोग्राफी (electromyography) अन्य इमेजिंग टेस्ट का उपयोग करते हैं। लकवे के कुछ घरेलू उपचार नीचे दिए गए हैं जो बहुत प्रभावी हो सकते हैं:

लकवे का घरेलू इलाज : Paralysis Ka Gharelu Ilaaj In Hindi

1) योग से लकवे का उपचार (Yoga to cure paralysis)

अनुलोम विलोम पूर्ण या आशिंक स्तिथि के लकवे को ठीक करने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है। आपको इसे नियमित रूप से कम से कम 1 घंटे तक करना चाहिए। इसका बहुत ही सकारात्मक परिणाम होता है और यदि आप इसे 2 सप्ताह तक रोजाना करते हैं, तो आपको परिणाम दिखाई देने लगेंगे। आप अनुलोम विलोम प्राणायाम के साथ कपालभाति और प्राणायाम भी कर सकते हैं।

2) एक्यूप्रेशर (acupressure)

लकवे से राहत पाने के लिए अपनी रिंग फिंगर को शरीर के ऊपरी हिस्से पर दबाएं। यदि आपका शरीर बाईं ओर लकवाग्रस्त है, तो बाईं हाथ की रिंग फिंगर यानी "अनामिका" को उस क्षेत्र पर दबाएं।

3) सरसों का तेल (Mustard oil)

दो चम्मच सरसों का तेल लें और प्रभावित हिस्से पर लगाएं। यह बहुत कारगर होगा। अगर सरसों का तेल उपलब्ध नहीं है तो आप घी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, यह करने से मांसपेशियों को सेंक मिलती है व ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है।

4) कलौंजी का तेल (Kalonji Oil)

कलौंजी के तेल को शरीर के प्रभावित हिस्से पर धीरे से मालिश करने की सलाह दी जाती है। रोजाना दो से तीन बार कलौंजी के तेल का प्रयोग करें और एक महीने के भीतर आप अपने लकवे की स्थिति में अच्छा बदलाव देखेंगे।

5) काली मिर्च (Black pepper)

250 मिलीलीटर सरसों के तेल में 50 ग्राम काली मिर्च डालकर पकाएं व इस हलके गरम तेल को प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इससे आपको कुछ ही समय में राहत मिल जाएगी।

6) लहसुन (Garlic)

लहसुन के 5-6 टुकड़े पीसकर उसमें 2 बड़े चम्मच शहद मिलाएं। 2 महीने तक रोजाना मिश्रण का सेवन करने की सलाह दी जाती है। इस अवधि में आपको लकवे से राहत मिलेगी। आप 5-6 लहसुन के टुकड़ों को दूध में उबालकर भी नियमित रूप से सेवन कर सकते हैं। इससे आपको अपने प्रभावित हिस्से को जीवित करने में मदद मिलेगी और आपका ब्लड प्रेशर भी सामान्य हो पाएगा।

7) जीवन जीने का तरीका बदले (Lifestyle changes)

जीवन जीने का तरीका बदले जैसे - धूम्रपान रोकना, नियमित व्यायाम करना और बेहतर आहार लेना।

स्ट्रोक को रोकने के लिए सुपर फूड्स - साग, चॉकलेट, सिट्रस फ्रूट्स, साबुत अनाज, लहसुन, टमाटर, कॉफी और ग्रीन टी।

सर्वश्रेष्ठ खाद्य पदार्थ जो स्ट्रोक को ठीक करने में मदद करते हैं - फलिया, केले, मसूर की दाल, अखरोट, आलू, कद्दू के बीज से तेल, अलसी का सेवन लकवे में मददगार हो सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now