मच्छर क्यों काटते हैं आपको ज्यादा, हो सकते हैं ये कारण

मच्छर क्यों काटते हैं आपको ज्यादा, हो सकती हैं ये कारण
मच्छर क्यों काटते हैं आपको ज्यादा, हो सकती हैं ये कारण

मच्छरों का काटना होती तो आम बात है, लेकिन कुछ लोगों के लिए आम बात नहीं है। दरअसल कुछ लोगों को मच्छर बहुत ज्यादा काटते हैं। कई लोगों का इसमें मानना ये है कि जिन लोगों का खून मीठा होता है उन्हें मच्छर ज्यादा काटते हैं। लेकिन असल में ऐसा नहीं है। मच्छरों के ज्यादा काटने के पीछे का कारण ब्लड ग्रुप का होना भी होता है साथ ही कई दूसरे कारण भी हो सकते हैं। तो आइए जानते हैं ज्यादा मच्छर काटने के पीछे क्या कारण हैं।

मच्छर क्यों काटते हैं आपको ज्यादा, हो सकते हैं ये कारण - Machar Kyu Kat te Hain Aapko Jyada, Ho Sakte Hain Ye Karan In Hindi

ब्लड ग्रुप (blood group) - मच्छरों का ज्यादा काटना बल्ड ग्रूप की वजह होती है। जिन लोगों का ब्लड ग्रुप ओ होता है अन्य लोगों के मुकाबले उनके ब्लड से मच्छर ज्यादा आकर्षित होते हैं। जिसकी वजह से ओ ब्लड ग्रुप वाले लोगों को मच्छर ज्यादा काटते हैं। इसलिए जब भी आपको ऐसा लगे की मच्छर बहुत ज्यादा काट रहे हैं, तो आप खुद का ब्लड ग्रुप चेक करें।

डार्क पहनने वालों को काटते हैं ज्यादा मच्छर (More mosquitoes bite dark wearers) - जो लोग डार्क कलर के कपड़े पहनते हैं उनके पास मच्छर ज्यादा आते हैं। मच्छर डार्क कलर पर ज्यादा अट्रैक्ट होते हैं। इसलिए डार्क कलर का उपयोग कम करें। इससे आप मच्छरों से बचे रहेंगे।

तापमान और पसीना (temperature and sweating) - मच्छरों की नाक गंध को बहुत जल्दी सूंघ लेती है।वे पसीने में आने वाले लैक्टिक एसिड, अमोनिया और अन्य यौगिकों को सूंघ सकते हैं. ज्यादा एक्सरसाइज के कारण शरीर में लैक्टिक एसिड और गर्मी बढ़ जाती है। जिसके कारण मच्छर पास आते हैं।

आनुवंशिक कारकों (genetic factors) - कुछ लोगों में आनुवंशिक कारकों के कारण भी शरीर में गंध रहती है। मच्छर इन गंध को तेजी से सूंघ सकते हैं। इसके अलावा पसीने से जो बदबू निकलती है उससे भी मच्छर को गंध महसूस होती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Shilki