Create

कान के संक्रमण के लिए लहसुन के औषधीय गुण - Kaan Ke Sankraman Ke Liye Lahsun Ke Aushadhiye Gun

कान के संक्रमण के लिए लहसुन के औषधीय गुण (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
कान के संक्रमण के लिए लहसुन के औषधीय गुण (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

कान का संक्रमण (Ear Infection) बच्चों से लेकर बड़ों तक किसी को भी हो सकता है यह स्तिथि कष्टकारक हो सकती है। इसके अलावा, कान में मैल जमा हो जाने पर भी काफी दर्द होता है। इस तरह की समस्या अगर ज़्यादा गंभीर न हों, तो आप दवाएं लेने की बजाएं घरेलु उपचार आज़माकर देख सकते हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक यदि आपको लगातार कानों में दर्द की दिक्कत बनी रहती है तो इस बारे में किसी विशेषज्ञ से सलाह जरूर ले लें, यह कुछ अंतर्निहित समस्याओं का संकेत भी हो सकता है। हालांकि सामान्य कान के दर्द में ओवर-द काउंटर दवाओं से ज्यादा वैकल्पिक उपचार पर ध्यान दिया जाना चाहिए। दर्द निवारक दवाओं के ज्यादा सेवन के कारण सेहत को नुकसान हो सकता है ऐसी स्तिथि में घरेलू उपचार कारगर होते है। आयुर्वेद में कान के संक्रमण के लिए लहसुन का उपयोग होता है।

कान के संक्रमण के लिए लहसुन के औषधीय गुण - Kaan Ke Sankraman Ke Liye Lahsun Ke Aushadhiye Gun In Hindi

लहसुन (Garlic) में बहुत शक्तिशाली एंटीबैक्टीरियल तत्व होते हैं, जो किसी भी इंफेक्शन से लड़कर आराम पहुंचाते हैं। साथ ही ये एक एंटी-इनफ्लैमटोरी तत्व के रूप में भी काम करता है जो कान में जमे मैल को साफ करके कान में ब्लॉक हुए फ्लूड का रास्ता साफ करता है। अगर आपको जुकाम की वजह से कान में दर्द है तब भी आपको इसका इस्तेमाल राहत पहुंचा सकता है। बस आपको इसके इस्तेमाल का सही तरीका अपनाने की देर है, लहसुन किसी भी कान के दर्द की दवाई से बेहतर असर करके दिखाएगा।

कान के संक्रमण के लिए लहसुन के इस्तेमाल : Use Of Garlic For Ear Infection In Hindi

लहसुन और रूई

लहसुन की एक कली को थोड़ा सा कूट लें। फिर इसे रूई में लपेट लें। इस रूई को कान में अंदर तक थोड़ा दबाकर रखें। ध्यान रखें रूई कान के बहुत अंदर न जाए। इसे 15 मिनट तक ऐसे ही रखने पर आराम होगा।

कान की परेशानी में लहसुन का रास

कान में दर्द की समस्या अक्सर बच्चों में होती है। इसके अलावा, किन्हीं कारणों से बड़ों के कान में भी दर्द हो सकता है। दर्द होने पर कान में दो बूंद लहसुन का रस डालें। ऐसा करने पर दर्द से फौरन राहत मिलती है। हालांकि, अगर कान बहता है या अंदर कोई घाव है तो इस रस का प्रयोग करने से पहले डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

कानो को करे साफ़

गंदगी या ध्यान न देने से अक्सर कान में इंफेक्शन हो जाता है। ऐसे में लहसुन के रस का प्रयोग फायदेमंद हो सकता है। लहसुन में ऐंटिवायरल और ऐंटिबैक्टीरियल गुण होते हैं, इसलिए यदि कान में जर्म्स के कारण दर्द हो रहा है तो लहसुन में मौजूद ये गुण राहत पहुंचाते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment