मुंह का लकवा का घरेलू उपचार : Facial Paralysis Ka Gharelu Upchar

Facial Paralysis Ka Gharelu Upchar In Hindi (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
Facial Paralysis Ka Gharelu Upchar In Hindi (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

लकवा (Paralysis) एक जानलेवा बीमारी हो सकती है और यह कैसे भी हो सकता है। चेहरे के लकवे का सबसे आम कारण स्ट्रोक है। स्ट्रोक से चेहरे का लकवा हो जाता है क्योंकि यह मस्तिष्क के भीतर तंत्रिका को नियंत्रित करने वाली चेहरे की मांसपेशियों को नुकसान पहुंचाता है। यह क्षति मस्तिष्क की कोशिकाओं में सीमित ऑक्सीजन प्रवाह या रक्तस्राव के कारण उस क्षेत्र के साथ अधिक दबाव डालने के परिणामस्वरूप हो सकती है। चेहरे के पक्षाघात का कारण बनने वाले कई अन्य कारण हैं और उनमें शामिल हैं - ऑटोइम्यून बीमारियों में से कोई भी, जन्मजात स्थितियां, गर्दन या सिर में ट्यूम, कान में संक्रमण या क्षति, लाइम की बीमारी, रामसे-हंट सिंड्रोम (चेहरे की तंत्रिका वायरल हमला), चेहरे की कोई चोट, खोपड़ी में फ्रैक्चर। मुँह के लकवे से उभरने के लिए यह कुछ घरेलू उपचार है जो रोगी की सहायता कर सकते हैं।कवा (Paralysis) एक जानलेवा बीमारी हो सकती है और यह कैसे भी हो सकता है। चेहरे के लकवे का सबसे आम कारण स्ट्रोक है। स्ट्रोक से चेहरे का लकवा हो जाता है क्योंकि यह मस्तिष्क के भीतर तंत्रिका को नियंत्रित करने वाली चेहरे की मांसपेशियों को नुकसान पहुंचाता है। यह क्षति मस्तिष्क की कोशिकाओं में सीमित ऑक्सीजन प्रवाह या रक्तस्राव के कारण उस क्षेत्र के साथ अधिक दबाव डालने के परिणामस्वरूप हो सकती है। चेहरे के पक्षाघात का कारण बनने वाले कई अन्य कारण हैं और उनमें शामिल हैं - ऑटोइम्यून बीमारियों में से कोई भी, जन्मजात स्थितियां, गर्दन या सिर में ट्यूम, कान में संक्रमण या क्षति, लाइम की बीमारी, रामसे-हंट सिंड्रोम (चेहरे की तंत्रिका वायरल हमला), चेहरे की कोई चोट, खोपड़ी में फ्रैक्चर। मुँह के लकवे से उभरने के लिए यह कुछ घरेलू उपचार है जो रोगी की सहायता कर सकते हैं।

मुंह का लकवा का घरेलू उपचार (Facial Paralysis Ka Gharelu Upchar In Hindi)

विटामिन (Vitamin)

चूंकि तंत्रिका क्षति से मुँह का लकवा हो सकता है, इसलिए अधिक विटामिन का सेवन जल्दी ठीक होने में सहायक होगा। इम्युनिटी सिस्टम को नुकसान पहुंचाने वाली बीमारियां भी चेहरे के लकवे का कारण बनती हैं। किसी भी मामले में, विटामिन तंत्रिका तंत्र के कामकाज को बढ़ावा देने और आपके स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करेंगे। अपने डॉक्टर से पूछें कि आपके लिए कौन से विटामिन सही हैं।

मुलैठी की जड़ (Licorice Root)

इस जड़ी बूटी में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों की मौजूदगी इसे मुँह के लकवे से निपटने के लिए बहुत उपयुक्त बनाती है। इस जड़ का सेवन करने वाले रोगी रोग से जुड़े दर्द और सूजन को कम करने में सक्षम होंगे। इस घरेलू नुस्खे को इस्तेमाल करने के लिए दो कप पानी को उबाल लें। जड़ के दो टुकड़े उबलते पानी में डालें। सर्वोत्तम परिणाम प्राप्त करने के लिए इसे दिन में दो बार चाय के रूप में पियें।

जिंक और अन्य मिनरल (Zinc and Other Minerals)

बीमारियों के खिलाफ अपनी रक्षा को बढ़ावा देने के लिए अपनी इम्युनिटी सिस्टम का अच्छा होना आवश्यक है। खाने में जिंक का अधिक सेवन करें ताकि आपकी नसों और कोशिकाओं को मजबूत किया जा सके। मिनरल प्राकृतिक रूप से भोजन में या पूरक रूपों में पाए जा सकते हैं। यदि आप पूरक लेने का निर्णय लेते हैं, तो उन्हें डॉक्टर के हिसाब से ही लें।

लाल मिर्च (Cayenne Pepper)

लाल मिर्च में ऐसे गुण होते हैं जो मुँह के लकवे के उपचार के लिए उत्कृष्ट होते हैं। यह जड़ी बूटी सिर और चेहरे के क्षेत्रों के तंत्रिका अंत तक रक्त परिसंचरण को बढ़ावा देगी। इसके स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने के लिए बस अपने भोजन में इस मसाले का अधिक सेवन करें।

कॉड लिवर तेल (Cod Liver Oil)

इस उपाय में विटामिन D और A वर्ग की कमी पूरी हो सकती है। ओमेगा -3 के प्रमुख स्रोत के रूप में, यह मुँह के लकवे को दूर करने में लाभकारी भूमिका निभा सकता है। इस घरेलू उपाय से सर्वोत्तम परिणाम प्राप्त करने के लिए निर्देशानुसार (बोतल पर लिखी हुई) कॉड ऑयल की खुराक लें।

सरसों (Mustard)

इस घरेलू नुस्खे को इस्तेमाल करने के लिए सरसों के तेल को दूसरे तेल (बेबी ऑयल, ऑलिव ऑयल या नारियल तेल) के साथ मिलाएं। यह तेल को पतला करने में मदद करेगा ताकि यह जले नहीं। इस तेल से चेहरे पर कई मिनट तक मसाज करें। जब आप कर लें, तो मुँह को पानी से धो लें।

होठों की एक्सरसाइज (Lip exercise)

होंठों के व्यायाम करने के लिए इन निर्देशों का पालन करें :-

होठों को पास खींचने के लिए अपने हाथों का प्रयोग करें;

अपनी नाक को टिप से छूने के लिए ऊपरी होंठ को खींचे;

कुछ सेकंड के लिए स्थिति बनाए रखें;

ऐसा लगातार दस बार करें।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar