बवासीर में नीम के फायदे

बवासीर में नीम के फायदे (sportskeeda Hindi)
बवासीर में नीम के फायदे (sportskeeda Hindi)

नीम (Neem) एक आयुर्वेदिक औषधि है, जिसका इस्तेमाल कई तरह के संक्रमण, घाव और बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है। लेकिन क्या कभी आपने नीम का इस्तोेमाल बवासीर का इलाज करने के लिए किया है? क्या नीम से बवासीर की समस्या कम हो सकती है? अगर आप इस से अनजान हैं, तो परेशान न हों। जानते हैं बवासीर में नीम के फायदे (Neem For Piles Treatment in hindi)।

youtube-cover

बवासीर में कैसे करें नीम का इस्तेमाल (How To Use Neem For Piles Treatment In Hindi)

नीम की फूल और पत्तियों का लेप -

बवासीर की समस्यां को कम करने के लिए नीम के फूल और पत्तियों (neem leaves for hemorrhoids) को अच्छी तरह से पीस लें। इसके बाद इस लेप को प्रभावित स्थान पर लगाएं। इससे मस्से की समस्या दूर हो सकती है।

नीम की क्रीम -

बवासीर के मस्से को दूर करने के लिए नीम की क्रीम का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे मस्सा धीरे-धीरे नष्ट हो सकता है।

नीम का तेल -

बवासीर की समस्या कम करने के लिए नीम का तेल लाभकारी हो सकता है। इसे इस्तेमाल करने के लिए एक कॉटन का कपड़ा लें। अब इसमें थोड़ा सा नीम का तेल लगा लें और मस्से पर लगाएं।

नीम की पत्तियों का रस -

बवासीर की परेशानी को कम करने के लिए नीम की पत्तियों का रस भी आपके लिए प्रभावी हो सकता है। इसके लिए नीम की पत्तियों को अच्छे से कूट लें। अब इस रस को बाहरी बवासीर पर लगाएं।

कैसे नीम बवासीर की परेशानी करता है कम?

1 . नीम में एंटी बैक्टीरियल, सूजनरोधी और एंटी ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो मस्से के सूजन को कम करने के साथ-साथ बैक्टीरिया को भी कम करता है। जिससे दर्द की समस्या प्रभावी तरीके से कम हो सकती है।

2 . इसके अलावा अगर आप नीम का जूस पीते हैं, तो यह कब्ज और एसिडिटी से भी आपको दूर रख सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan