Create

नीम गिलोय तुलसी के फायदे: Neem Giloy Tulsi Ke Fayde

फोटो- indiatv
फोटो- indiatv

गिलोय , नीम और तुलसी तीनों ही व्यक्ति के शरीर के लिए बहुत लाभकारी होते हैं। गिलोय को इम्यूनिटी बढ़ाने, पैरों में जलन होने पर, पीलिया होने पर, एनीमिया जैसी समस्या में इस्तेमाल किया जाता है। वहीं तुलसी से खांसी, जुकाम, कब्ज बुखार, पेट की समस्या को दूर करने के लिए उपयोग किया जाता है और नीम में बहुत औषधियां गुण पाए जाते हैं। हाल ही में कोरोना वायरस की वजह से इन तीनों का उपयोग बढ़ गया है। क्योंकि इनके सेवन से शरीर की इम्युनिटी (immunity) यानी रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है। जानिए गिलोय और तुलसी के क्या लाभ होते हैं। जानते हैं इनसे क्या फायदे होते हैं।

ये भी पढ़ें: पंच तुलसी ड्रॉप्स के फायदे: Panch Tulsi Drops Ke Fayde

गिलोय के फायदे -

इम्युनिटी के लिए- गिलोय का इस्तेमाल वायरल या बैक्टीरियल इंफेक्शन में बहुत लाभकारी होता है। रोगों से लड़ने के लिए इसका इस्तेमाल फायदेमंद होता है। तुलसी के पत्तों के साथ गिलोय के डंठल को पानी के साथ किसी बर्तन में गर्म कर लें। ऐसा करने से सर्दी-खांसी में आराम मिलता है।

पीलिया में फायदेमंद- गिलोय के पत्तों का रस पीलिया के रोग में पीना बहुत लाभकारी होता है। इसके सेवन से पीलिया में होने वाले बुखार और दर्द से भी आराम मिलता है।

तुलसी के फायदे -

दस्त होने पर- अगर कोई दस्त की समस्या से परेशान हैं तो उसे तुलसी के पत्तों में जीरा मिलाकर खाना चाहिए। ऐसा दिन में तीन से चार बार करना है।

ये भी पढ़ें: अजवाइन के पानी के फायदे: awain ke pani ke fayde

सांस की दुर्गंध दूर करें- जिन लोगों के मुंह से दुर्गंध आती है उन्हें रोजाना तुलसी के पत्तों को चबाना चाहिए। इसके सेवन से कोई साइडइफेक्ट भी नहीं होगा।

नीम के फायदे -

कैंसर में मददगार- नीम के पत्ते खाने में थोड़े कड़वे होते हैं। लेकिन ये कड़वे कड़वे पत्ते शरीर को कैंसर जैसी बीमारी से बचने में मदद करता है।

त्वचा की बीमारी- बहुत पहले से नीम के पत्तों का इस्तेमाल त्वचा की समस्या को दूर करने के लिए किया जाता है। नीम के पत्तों को खाने से खून साफ होता है। जिससे त्वचा की समस्या दूर हो सकती है। वहीं नीम की पत्तियों को पानी में उबालकर उस पानी से नहाना चाहिए इससे बैक्टीरिया मर जाते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

ये भी पढ़ें: नीम के पत्ती के फायदे: Neem Ki Patti Ke Fayde

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment