Create

न्यूरोपैथी का घरेलू उपचार- neuropathy ka gharelu upchar

न्यूरोपैथी का ये है घरेलू उपचार
न्यूरोपैथी का ये है घरेलू उपचार

गलत जीवनशैली और घंटों तक एक ही अवस्था में बैठे रहने की आदत के चलते कई शारीरिक समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं और उनमें से एक है नसों में दर्द होना जिसे हम न्यूरोपैथी भी कहते हैं। अमूमन हर व्यक्ति शरीर के किसी न किसी हिस्से में नसों में दर्द की समस्या रहती है। अक्सर नसों में दर्द के इलाज के लिए फिजियोथेरेपी या दवाएं दी जाती हैं जो कि इलाज का बहुत महंगा विकल्प है। लेकिन घरेलू उपायों के जरिए भी बहुत कम खर्चे और आसान तरीके से नसों में दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है। इसी कड़ी में आज हम आपको नसों के दर्द से छुटकारा पाने के घरेलू नुस्खों के बारे में बताने जा रहे हैं।

नसों में दर्द का घरेलू उपचार Home Remedies of Neuropathy in Hindi

शराब से बना लें दूरी(Donot drink alcohol)

अगर शराब का सेवन करते हैं तो इससे दूरी बना लें। क्योंकि, शराब की वजह से भी नसों में दर्द बढ़ सकता है। वहीं, तंबाकू नसों में खून की आपूर्ति और नसों के ठीक होने की गति को धीमा कर देता है। इसलिए नसों में दर्द से ग्रस्त व्यक्ति को इन दोनों के सेवन से बचना चाहिए।

योग और स्‍ट्रेचिंग (Yoga and stretching is a home remedy for nerve pain)

योग और स्ट्रेचिंग करने से नसों में दर्द कम होने में मदद मिलती है। साइटिक नर्व पेन के लिए स्ट्रेंथ ट्रेनिंग से दर्द कम होता है और मांसपेशियों में लचीलापन एवं संतुलन बढ़ता है। इसके साथ ही नियमित रूप से एक्सरसाइज करने से मांसपेशियां दुरुस्त रहती हैं।

नसों में दर्द का घरेलू उपचार है विटामिन बी12 (Vitamin B12 is the home remedy for nerve pain)

विटामिन बी12 खासतौर पर लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में मदद करता है और हड्डियों एवं नसों को स्वस्थ रखने में मदद करता है। इसकी कमी के चलते नसों में दर्द की समस्या हो सकती है। विटामिन बी12 अंडे, दूध और अन्य दूध से बने उत्पादों में पाया जाता है।

हल्‍दी (Turmeric is a home remedy for nerve pain)

नसों में दर्द की समस्या है तो हल्दी का सेवन करना शुरू कर दें। हल्दी में मौजूद करक्यूमिन नामक तत्व दर्द और रुमेटाइड आर्थराइटिस के इलाज में उपयोगी है। कई स्टडी में यह बात सामने आई है कि करक्यूमिन नसों में दर्द से राहत दिलाता है। चाय, सब्जी या दूध में हल्दी मिलाकर पीने से इससे काफी राहत मिलेगी। साथ ही इसमें एंटी-ऑक्‍सीडेट, एंटी-इंफ्लामेट्री और नसों को सुरक्षा प्रदान करने वाले गुण होते हैं।

नसों के दर्द का तेल (nerve pain oil)

ब्लड प्रेशर के साथ-साथ दर्द को कम करने में यूकेलिप्टस का तेल लाभकारी है। इस तेल को सूंघने से नसों में तनाव औऱ दर्द कम होता है। इसके साथ ही अदरक का तेल और लैवेंडर ऑयल भी नसों में तनाव और दर्द को दूर करने में लाभकारी है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
Be the first one to comment