Create

नीलगिरी के तेल के 5 फायदे

नीलगिरी के तेल के 5 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
नीलगिरी के तेल के 5 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar

जब भी हम सर्दी और खांसी से परेशान होते हैं, तो हमेशा पहले घरेलू उपचार आजमाते हैं और नीलगिरी का तेल सबसे अच्छे उपचारों में से एक है। नीलगिरी का तेल (Eucalyptus oil) नीलगिरी के सूखे पत्तों से तैयार किया जाता है। तेल निकालने के लिए पत्तियों को सुखाया जाता है, कुचला जाता है और भाप में आसुत किया जाता है। निकाला गया तेल एक स्ट्रांग, वुडी और मीठी गंध के साथ रंगहीन होता है।

नीलगिरी के तेल का मुख्य यौगिक सिनेओल (cineole) है, जिसे यूकलिप्टोल (eucalyptol) के नाम से भी जाना जाता है। नीलगिरी के तेल के बहुत से फायदे हैं क्योंकि यह एंटीइंफ्लेमेटरी (anti-inflammatory), एंटीस्पास्मोडिक (antispasmodic), एंटीऑक्सीडेंट (antioxidant), एंटीसेप्टिक (antiseptic), डिकॉन्गेस्टेंट (decongestant) गुणों से भरा है। यह विभिन्न प्रकार की सामान्य बीमारियों के इलाज के लिए आश्चर्यजनक रूप से काम करता है। ये लेख नीलगिरी के तेल के फायदों के विषय में है।

नीलगिरी के तेल के 5 फायदे - Nilgiri Ke Tel Ke Fayde In Hindi

1. जुकाम में मददगार (Helpful in cold)

जुकाम में भरी हुई नाक से राहत पाने का सबसे प्रभावी तरीका नीलगिरी के तेल से भाप (स्टीम) लेना है। यह तेल श्लेष्मा झिल्ली (mucous membrane) के साथ प्रतिक्रिया करता है और जमाव को दूर करने में मदद करता है। यह संक्रमण से निपटने के लिए एक एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीसेप्टिक के रूप में भी कार्य करता है।

2. श्वसन संबंधी शिकायतों को दूर करे (Relieve respiratory complaints)

नीलगिरी का तेल एक उत्कृष्ट डिकॉन्गेस्टेंट (decongestant) और कफ सप्रेसर है। यह बलगम और कफ को तोड़ने और वायुमार्ग को खोलने में मदद करता है। यह अस्थमा (asthma), ब्रोंकाइटिस (bronchitis), गले में खराश (sore throat) और सर्दी (cold) के लिए एक लोकप्रिय घरेलू उपचार है। सर्वोत्तम परिणामों के लिए, गले में खराश और ब्रोंकाइटिस से राहत पाने के लिए पानी में ताजी पत्तियों का उपयोग करें।

3. दर्द निवारक (Post-surgery pain reliever)

नीलगिरी का तेल प्रभावित क्षेत्र के दर्द और सूजन को कम करने में मदद करता है। घुटने की रिप्लेसमेंट सर्जरी के बाद नीलगिरी के तेल की स्टीम लेने वाले लोगों को कम दर्द महसूस हो सकता है। यह तेल ब्लड प्रेशर को भी कम करता है।

4. स्कैल्प के स्वास्थ्य को बढ़ावा दे (Promote scalp health)

नीलगिरी का तेल स्कैल्प के अच्छे स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है और डैंड्रफ, स्कैल्प के फंगल इन्फेक्शन आदि को कम करता है। यह टी-ट्री ऑयल के साथ यूकेलिप्टस ऑयल को मिलाकर जूँ को साफ करने का एक बेहतरीन उपाय है। अपने बालों में लगाने से पहले अपने शैम्पू में नीलगिरी के तेल की कुछ बूंदे मिलाएं।

5. तनाव कम करने में मददगार (Helpful in reducing stress)

नीलगिरी का तेल तनाव को कम कर सकता है और आपकी मानसिक स्थिति को शांत और संतुलित रख सकता है। शोधकर्ताओं का यह भी सुझाव है कि सर्जरी से पहले चिंता दूर करने के लिए नीलगिरी का तेल बहुत कारगर है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...