Create

नार्मल डिलीवरी के लिए 7 घरेलू उपाय : Normal Delivery Ke Liye 7 Gharelu Upay

नार्मल डिलीवरी के लिए 7 घरेलू उपाय (फोटो - sportskeeda hindi)
नार्मल डिलीवरी के लिए 7 घरेलू उपाय (फोटो - sportskeeda hindi)

गर्भावस्था के दौरान हर महिला को सबसे बड़ी चिंता होती है कि क्या उसक नार्मल या फिर सिजेरियन डिलीवरी होगी। ये बातें बहुत सी गर्भवती मां के दिमाग में चलती रहती हैं। तनाव में बहुत सी महिलाएं गर्भधारण करने में ही परेशानी का सामना करती हैं। ऐसे में ज्यादातर मामलों में बच्चे की डिलीवरी नॉर्मल होने के बजाए सिजेरियन हो रही है और इसके कई सारे कारण हैं। जानते हैं नार्मल डिलीवरी के उपाय।

नार्मल डिलीवरी के लिए 7 घरेलू उपाय : Normal Delivery Ke Liye 7 Gharelu Upay In Hindi

1.स्वस्थ रहें - डिलीवरी से पहले आपको ये सुनिश्चित कर लेना चाहिए की आप पूरी तरह से स्वस्थ रहें और आपको किसी भी प्रकार की कोई कमजोरी आपको न हो। साथ ही शरीर में खून की कमी नहीं होनी चीहिए।

2. सही आहार लें - गर्भवती महिला को अपने खाने-पीने का पूरा ध्यान रखना चाहिए। ऐसे समय में केवल भूख को शांत करना जरूरी नहीं है। गर्भवती महिला काे ऐसा खाना खाना चाहिए जिससे उसे संपूर्ण आहार मिले।

3. टहलना चाहिए - प्रेग्नेंट होने का मतलब बीमार होना बिल्कुल नहीं है। ऐसे समय में भारी काम करना आपको नुकसान पहुंचा सकता है लेकिन हिलना-डुलना बंद कर देना सही नहीं है। इसलिए रोजाना टहलने की आदत रखें। आज कल लोग प्रेग्नेंसी के दौरान योगा भी करते हैं और कई तरह के वर्कआउट भी करते हैं।

4. व्यायाम करें - हर किसी के लिए व्यायाम करना जरूरी होता है। वहीं गर्भावस्था के समय में भी महिला को अपने आपको खुश रखने के लिए व्यायाम करना चाहिए।

5. पानी पिएं - गर्भावस्था के समय में शरीर का तापमान बढ़ जाता है। ऐसे में पसीना बहुत आता है. तो इस बात का ध्यान रखें कि आप पानी खूब पिएं।

6. तनावमुक्त रहें - गर्भावस्था के समय महिला को स्ट्रेस फ्री रहना चाहिए। इस समय मन में अच्छी बातें लानी चाहिए और तनाव से परहेज करना चाहिए।

7. अच्छी नींद लें - माना जाता है कि जब एक महिला गर्भवती होती है तो, उसे जितना हो सके अच्छी नींद लेनी चाहिए। इससे डिलीवरी आसान हो जाती है। टूटी हुई नींद बच्चे ग्रोथ और डेवलपमेंट पर असर डालती है। कोशिश करें जहां आप आराम करें वहां शांति का माहौल हो, ताकि नींद डिस्टर्ब न हो।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment