Create

ऑस्टियोपोरोसिस के घरेलू उपचार - Osteoporosis ke gharelu upchar

ऑस्टियोपोरोसिस के बेहतरीन घरेलू उपचार
ऑस्टियोपोरोसिस के बेहतरीन घरेलू उपचार
reaction-emoji
Ritu Raj

ऑस्टियोपोरोसिस हड्डियों में होने वाली एक बीमारी है। इस बीमारी में हड्डियां अंदर के खोखली होकर कमजोर हो जाती हैं। इतना समझ लें की हड्डियां इतनी कमजोर हो जाती हैं कि, हल्का-सा झटका लगने पर भी कूल्हे, रीढ़ और कलाई में फ्रैक्चर हो सकता है। इस समस्या में मरीज की हड्डियों के कई छेद हो जाते हैं। इस गंभीर बीमारी में वैसे तो डॉक्टर की सलाह लेनी जरूरी हो जाती है लेकिन, कुछ घरेलू उपचार (Home Remedies For Osteoporosis in Hindi) के जरिए इसे ठीक करने में मदद मिल सकती है।

ऑस्टियोपोरोसिस के घरेलू उपचार - Osteoporosis ke gharelu upchar in Hindi

सेब का सिरका (Apple cider vinegar is the home remedy for osteoporosis)

सेब के सिरके को गठिया व ऑस्टियोपोरोसिस के उपचार में काफी लाभकारी माना जा सकता है। यह कैल्शियम, पोटैशियम और मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्वों का एक समृद्ध स्रोत होता है। इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व हड्डियों को स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकते हैं। इसके लिए प्रतिदिन भोजन के पहले एक कप गर्म पानी में सेब का सिरका मिलाकर पीने से काफी लाभ मिल सकता है।

विटामिन्स (Vitamins are beneficial for osteoporosis)

ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या की रोकथाम के लिए विटामिन्स की काफी जरूरत पड़ती है। विटामिन-डी युक्त खाद्य पदार्थ हड्डियों को स्वस्थ बनाए रखने में कारगर हो सकते हैं। विटामिन-सी, विटामिन-के वाले खाद्य पदार्थों के सेवन से हड्डियां मजबूत होने के साथ ही स्वस्थ बनती हैं। इसके लिए विटामिन्स से भरपूर खाद्य पदार्थों में पनीर, खट्टे फल और हरी पत्तेदार सब्जियां खाने से लाभ मिल सकता है।

एसेंशियल ऑयल (Essential oil is beneficial in osteoporosis disease)

ऑस्टियोपोरोसिस के प्रभाव को कम करने के लिए एसेंशियल ऑयल फायदेमंद हो सकते हैं। इनमें बोर्नियोल, थाइमोल, अल्फा-पिनीन, बीटा-पिनीन, बोर्निलैसेट और मेन्थॉल जैसे मोनोटर्पीन घटक पाए जाते हैं। जो हड्डियों के स्वास्थ्य को बढ़ाने के साथ ही ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या को कम करने में मदद कर सकते हैं। इसके लिए एक गिलास गुनगुने पानी में किसी भी आवश्यक तेल की एक-दो बूंद मिलाकर सेवन करने से लाभ मिलेगा।

दूध (Osteoporosis problem can be reduced by milk)

दूध में कैल्शियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है और कैल्शियम हड्डियों के विकास के लिए काफी जरूरी पोषक तत्व है। ऐसे में दूध पीना लाभकारी साबित हो सकता है। हालांकि, इसके लिए डॉक्टर से सलाह जरूर ले लेना चाहिए।

तिल का तेल (Sesame oil is beneficial in osteoporosis)

तिल के तेल में सैचुरेटेड फैटी एसिड की मात्रा कम होती है साथ ही इसमें सेसामिन, सेस्मोलिन और सेसामोल जैसे एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो हड्डियों को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Ritu Raj
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...