पीरियड्स में पपीता खाना है बहुत फायदेमंद 

पीरियड्स में पपीता खाना है बहुत फायदेमंद (sportskeeda Hindi)
पीरियड्स में पपीता खाना है बहुत फायदेमंद (sportskeeda Hindi)

पपीता एक ऐसा फल है जो लगभग हर किसी को खाना पसंद होता है और सेहत के लिए बहुत फायदेमंद (Papaya Benefits For Health In Hindi) भी होता है। पपीते में विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन बी 9 (फोलेट), विटामिन बी 1, विटामिन बी 3, विटामिन बी 5, विटामिन ई और विटामिन के पाया जाता है। इसके साथ ही पपीते का सेवन कई गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं के जोखिम को भी कम करता है। वहीं पीरियड्स की समस्या में भी पपीते का सेवन लाभकारी होता है। जानते हैं इसके (papaya benefits in periods) फायदे।

youtube-cover

पीरियड्स में पपीता खाना है बहुत फायदेमंद : Papaya benefits In Periods In Hindi

टॉक्सिन्स निकालने के लिए - पपीते (papaya) में पपेन नामक एंजाइम पाया जाता है, जो पाचन को बेहतर बनाने में मदद करता है। पपीते के सेवन से मल त्यागने में मदद मिलती है और शरीर के टॉक्सिन्स बाहर निकलते हैं।

कब्ज की समस्या से छुटकारा - अक्सर महिलाओं को पीरियड्स के समय पर कब्ज की समस्या का सामना करना पड़ता हैं। लेकिन पपीते का सेवन करने से कब्ज से राहत मिलती है, और पेट संबंधि समस्याओं से छुटकारा पाने में मददगार है।

विटामिन सी और फोलेट का अच्छा स्रोत है - पपीता में विटामिन सी और फोलेट पाया जाता है। पपीता एस्ट्रोजन के स्तर को बनाए रखने में मदद करता हैं। जिससे गर्भाशय संकुचित होता है और गर्भाशय की परत टूट जाती है, इससे पीरियड्स आसानी से हो जाते हैं।

एस्ट्रोजन को कम करता है - पीरियड्स (periods) को रेगुलर करने के लिए एस्ट्रोजन एक महत्वपूर्ण हार्मोन होता है। शरीर में एस्ट्रोजन के स्तर को बनाए रखने में पपीता मदद करता है और पीरिड्स नियमित रहते हैं।

प्रोजेस्टेरोन के उत्पादन में बढ़ावा - अक्सर पीरियड्स के समय पर महिलाओं के हार्मोनल असंतुलित हो जाते हैं। लेकिन प्रोजेस्टेरोन शरीर में हार्मोन के संतुलन को बनाए रखने के लिए जरूरी है। ऐसे में पपीते का सेवन लाभकारी होता है। क्योंकि शरीर में हार्मोनल असंतुलन के कारण पीरियड्स के लक्षण बढ़ते हैं और महिलाओं को गंभीर दर्द जैसी समस्याएं होती हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan