पार्किंसंस रोग के लिए व्यायाम : Parkinsons Rog Ke Liye Vyayam

पार्किंसंस रोग के लिए व्यायाम  (फोटो - sportskeeda hindi)
पार्किंसंस रोग के लिए व्यायाम (फोटो - sportskeeda hindi)

अगर शरीर में कोई बीमारी लग जाए तो, इसकी वजह से हर कोई परेशान हो जाता है। ऐसे ही पार्किंसन की बीमारी है, जो शरीर के संतुलन से जुड़ी ऐसी गंभीर बीमारी है, जिसके कारणों का अब तक सटीक जानकारी नहीं मिल सकी है। इस बीमारी में व्यक्ति का सेंट्रल नर्वस सिस्टम प्रभावित होता है। इस बीमारी को फिजियोथेरेपी, सर्जरी या योगासनों की मदद से बढ़न से रोका जा सकता है। आइए जानते हैं इन 3 योगासनों के बारे में जो शरीर पर आपका संतुलन बनाने में मदद करेंगे।

पार्किंसंस रोग के लिए व्यायाम : Parkinsons Rog Ke Liye Vyayam In Hindi

अनुलोम-विलोम (Breathing exercise) : अनुलोम विलोम प्राणायाम मस्तिष्क में संतुलन लाता है। यह हमारी विचार करने की शक्ति और भावनाओं में समन्वय लाता है। प्राणायाम के दौरान जब हम गहरी सांस भरते हैं तो शुद्ध वायु हमारे खून के दूषित पदार्थों को बाहर निकाल देती है।

ताड़ासन (Mountain Pose) : ताड़ासन पैर से लेकर दोनों भुजाओं और शरीर में खिंचाव लाने के लिए और लंबाई बढ़ाने के लिए बहुत ही प्रभावी होता है। वहीं इस आसन को करने से शरीर को कई फायदे होते हैं। यह हमारे शरीर को बीमारियों से दूर रखता है।

उत्तानासन (Standing forward bend) : उत्तानासन का मतलब स्ट्रैच पोज होता है। इस आसन को करने से शरीर को बहुत फायदे होते हैं। इस आसन में आपका सिर हृदय के नीचे होता है। जिससे आपके पैरों के बजाय आपके सिर में रक्त परिसंचरण होता है। साथ ही आपकी कोशिकाओं को ऑक्सीजन पहुंचता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan