Create

प्लेटलेट्स बढ़ाने के 7 घरेलू उपाय : Platelets Badhane Ke Gharelu Upay

प्लेटलेट्स बढ़ाने के 7 घरेलू उपाय (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
प्लेटलेट्स बढ़ाने के 7 घरेलू उपाय (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

अकेले आहार और व्यायाम से प्लेटलेट काउंट (Platelet Count) बढ़ाना काफी मुश्किल है। प्लेटलेट्स हमारे खून का महत्वपूर्ण कॉम्पोनेन्ट है। कई बार प्लेटलेट्स कम होने और न बनने की वजह से शरीर कई तरह की बीमारियों की चपेट में आ जाता है। इससे डेंगू, मलेरिया जैसी जानलेवा बीमारियां होती हैं| प्लेटलेट्स ऐसी सेल्स होती हैं जो रक्त को बहने से रोकती हैं| लोग अक्सर प्लेटलेट्स कम होने की वजह से काफी परेशान रहते हैं और उन्हें समझ नहीं आता कि प्लेटलेट्स बढ़ाने के लिए क्या- क्या खाएं। तो चलिए हम आपको बताते हैं प्लेटलेट्स बढ़ाने के घरेलू उपाय।

प्लेटलेट्स बढ़ाने के 7 घरेलू उपाय : Platelets Badhane Ke Gharelu Upay In Hindi

1. चुकंदर और गाजर (Beetroot and carrot)

लाल रंग का दिखने वाला यह फल चुकंदर हमारी सेहत के लिए कई मायनों में फायदेमंद है। यह शरीर में खून बढ़ने से लेकर शरीर के विषैलें तत्व भी खत्म करता है। गाजर में फेनोलिक और चुकंदर में मौजूद नाइट्रिक ऑक्साइड प्लेटलेट को शरीर में एक जगह इकट्ठा होने नहीं देता है।दिन में कम से कम दो बार चुकंदर और गाजर का जूस पीना चाहिए या इसे सलाद की तरह खाना चाहिए।

2. पपीते के पत्ते (Papaya Leaves)

प्लेटलेट्स बढ़ाने में पपीता और उसकी पत्तियां दोनों भी सहायक हैं विशेष रूप से डेंगू बुखार के कारण कम हुए प्लेटलेट्स को संतुलित करने में पपीता असरकारक होता है। प्लेटलेट्स संतुलित रखने के लिए प्रतिदिन नियमित रूप से पपीता खाना चाहिए। पपीते के पत्तों को पानी में उबालकर उसे ग्रीन टी के रूप में पिएं अथवा पपीते के पत्ते का स्वरस बनाकर पीने सेज्यादा फायदा होता है।

3. बकरी का दूध (Goat's Milk)

डेंगू बुखार में बकरी का दूध पीने से प्लेटलेट्स बहुत तेजी से बढ़ती हैं। कुछ इसी तरह ही चिकनगुनिया में भी यह असरदार होता है, कुछ दिन लगातार बुखार रहने के बाद हड्डियों में भयंकर दर्द होने लगता है। बकरी का दूध अनेक बीमारियों में उपयोगी है।

4. अनार (Pomegranate)

अनार एंटीऑक्सीडेंट व एंटी-इंफ्लेमेटरी जैसे कई गुणों से भरपूर होता है। आप इसे नाश्ते के रूप में या सलाद की तरह खाएं या इसका जूस बनाकर पिएं, मगर ध्यान रहे कि जूस बहुत देर पहले का न बना हो। कई रिसर्च के अनुसार अनार प्लेटलेट्स को एक जगह इक्कठा होने से रोकता है। प्लेटलेट्स एक जगह इक्कठा होने से ब्लड क्लॉट होने का डर होता है।

5. गिलोय (Giloy)

गिलोय का काढ़ा प्लेटलेट्स बढ़ाने में बहुत महत्वपूर्ण रोल अदा करता है इसका सेवन करने का ढंग बहुत सरल है 6 से 10″ की गिलोय की बेल के तने का टुकड़ा तोड़ कर उसे लगभग अधा लीटर पानी में उबाले और उसमे 5-7 तुलसी के पत्ते थोडा सा अदरक और 3 कालीमिर्च डालकर तब तक उबाले जब तक वो आधा न हो जाये । उसके बाद उसे ठंडा कर के थोडा गुनगुना, रोगी को खली पेट पिलाने से आश्चर्यजनक फायदे मिलते हैं । गिलोय का रस का सेवन करने के आधे घंटे तक कुछ भी ना खाएं ।

6. व्हीट ग्रास (Wheatgrass)

इसमें क्लोरोफिल, फोलिक एसिड, जिंक (zinc) व विटामिन (vitamin) जैसे ज़रुरी पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो शरीर की ज़रूरत को पूरा करते हुए प्लेटलेट काउंट को बढ़ाने में मदद करते हैं। आप हर रोज़ व्हीट ग्रास के जूस में नींबू के रस की कुछ बूंदों को मिलाकर पिएं इससे आपको फायदा होगा। कभी-कभी इम्यून सिस्टम भी प्लेटलेट घटाने का काम करता है। ऐसे में व्हीट ग्रास प्लेटलेट को नियंत्रित रखता है।

7. आंवला (Indian Gooseberry)

आंवले में उपस्थित विटामिन C प्लेटलेट्स की संख्या बढ़ाने के साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता में भी वृद्धि करता है। नियमित रूप से प्रतिदिन सुबह खाली पेट 3 से 4 आंवला का सेवन कर सकते हैं। आंवला अगर कच्चा न खा पा रहे हैं तो 2 चम्मच आंवले के जूस में शहद मिलाकर पी सकते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment