विटामिन U की कमी से होने वाली समस्याएं, जानें कैसे करें इसकी पूर्ति

विटामिन U की कमी से होने वाली समस्याएं (sportskeeda Hindi)
विटामिन U की कमी से होने वाली समस्याएं (sportskeeda Hindi)

हर व्यक्ति के शरीर के लिए विटामिन्स, मिनरल्स की बहुत जरूरत होती है। यह सभी चीजें बीमारी से बचने में मदद करती है। ऐसे ही शरीर के लिए विटामिन U भी जरूरी है। अगर किसी के शरीर में विटामिन U की कमी हो जाए तो इसकी वजह से तरह-तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है। विटामिन यू की कमी होने पर पेट से संबंधित रोग अधिक देखने को मिलते हैं। जानते हैं विटामिन U की कमी से होने वाली समस्याएं और कैसे करें इसकी पूर्ति।

youtube-cover

विटामिन U की कमी से होने वाली समस्याएं, जानें कैसे करें इसकी पूर्ति : Problems caused by Vitamin U deficiency in hindi

पेट में अल्सर की समस्या होती है - शरीर में विटामिन यू की कमी पेट के अल्सर का कारण बन सकता है। इसलिए अल्सर से बचने के लिए शरीर में विटामिन यू का पर्याप्त मात्रा में होना जरूरी होता है। अगर किसी व्यक्ति को पेट में अल्सर है, तो उसके लिए विटामिन यू डाइट फायदेमंद होता है। इस स्थिति में पत्तागोभी का सेवन लाभकारी होता है। पत्तागोभी में विटामिन यू मौजूद होता है।

घाव भरने में देरी होती है - विटामिन यू शरीर के घाव, चोट या जख्म को जल्दी भरने के लिए जरूरी होता है। शरीर में विटामिन यू की कमी होने पर घाव या चोट को रिकवर होने में अधिक समय लग सकता है। विटामिन यू अंदरूनी चोट के साथ ही बाहरी चोट को भी भरने में सहायक होता है।

इम्यूनिटी कमजोर होती है - विटामिन यू की कमी होने से प्रतिरोधक क्षमता की प्रतिक्रिया प्रभावित होती है। यानी इम्यूनिटी को मजबूत बनाने के लिए विटामिन यू से भरपूर डाइट लेना भी जरूरी होता है। विटामिन यू शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाता है, बीमारियों से लड़ने में हमारी मदद करता है।

विटामिन U के सोर्स (vitamin u sources)

पालक, गोभी, सरसों के पत्ते, ब्रोकली, शतावरी, मूली, शलजम, सेब, केला, अंगूर और खजूर में विटामिन U काफी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। इसलिए शरीर में विटामिन U की कमी होने पर इन सभी चीजों (Source of Vitamin U in Hindi) का सेवन जरूर करना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment