सफेद चीनी के 6 नुकसान

सफेद चीनी के 6 नुकसान (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
सफेद चीनी के 6 नुकसान (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

रिफाइंड सफेद चीनी (refined white sugar) का सेवन मोटापे, टाइप 2 मधुमेह और हृदय रोग जैसी स्थितियों से जुड़ा हुआ है। यह विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थों में पाई जाती है, जिससे इसे टालना विशेष रूप से चुनौतीपूर्ण हो जाता है। इसके अलावा, आपको आश्चर्य हो सकता है कि प्राकृतिक चीनी की तुलना में परिष्कृत शर्करा कैसे होती है, और क्या उनके समान स्वास्थ्य प्रभाव होते हैं। यह लेख सफेद चीनी के सेवन के दुष्प्रभावों पर चर्चा करता है।

सफेद चीनी के 6 नुकसान - Safed Cheeni Ke Nuksan In Hindi

1. ग्लूकोज़ लेवल को अनियंत्रित करे (Control glucose level)

अस्थिर शुगर लेवल आपको मूड स्विंग्स, थकान और सिरदर्द का अनुभव करवा सकता है। यह क्रेविंग में भी योगदान देता है, जो भूख का चक्र बदल सकता है। इसके विपरीत, जो लोग चीनी के सेवन से बचते हैं, उनमें भावनात्मक रूप से संतुलित और ऊर्जावान महसूस करते हुए कम क्रेविंग होती है।

2. चीनी से मोटापा, मधुमेह और हृदय रोग का खतरा बढ़ता है (Increases risk of obesity, diabetes and heart disease)

हम सभी किसी न किसी समय मिठाई का सेवन करना पसंद करते हैं, जो हमारे रक्त शर्करा के स्तर को जल्दी प्रभावित करती है। इससे मोटापे, हृदय रोग और मधुमेह के जोखिम की संभावना बढ़ती है।

3. इम्यून फंक्शन को प्रभावित करे (Affects immune function)

जैसा की आप जानते हैं कि बीमार होना काफी बुरा हो सकता है और चीनी आपके शरीर से बीमारी से लड़ने के तरीके में हस्तक्षेप कर सकती है। बैक्टीरिया और यीस्ट चीनी पर जीवित रहते हैं, इसलिए शरीर में अतिरिक्त ग्लूकोज इन जीवों के निर्माण और संक्रमण का कारण बनता है।

4. उच्च चीनी वाले आहार से क्रोमियम की कमी हो सकती है (High-sugar diet may lead to chromium deficiency)

क्रोमियम, एक ट्रेस खनिज, शरीर में रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में मदद करता है। जबकि यह मांस, समुद्री भोजन और पौधों के खाद्य पदार्थों में पाया जा सकता है, 90% लोगों को अभी भी परिष्कृत स्टार्च के कारण पर्याप्त क्रोमियम नहीं मिलता है। अन्य कार्बोहाइड्रेट भी क्रोमियम की आपूर्ति के खाद्य पदार्थों को लूट सकते हैं, इसलिए उन खनिज स्तरों को बढ़ाने के लिए आपके कार्बोस को सीमित करना आपकी सबसे अच्छी शर्त है।

5. चीनी बढ़ती उम्र के लक्षणों को तेज करे (Sugar can accelerate the signs of aging)

शुगर आपके शरीर की संरचना को प्रभावित कर सकती है। यह झुर्रियों और आपकी त्वचा को ढीला करने में योगदान देकर आपकी त्वचा के साथ खिलवाड़ भी कर सकती है। चीनी आपके रक्तप्रवाह में प्रवेश करने के बाद, प्रोटीन से जुड़ जाती है। चीनी के साथ इन प्रोटीन के मिश्रण से त्वचा की लोच कम हो जाती है और यह समय से पहले आपको बढ़ती उम्र के लक्षणों का शिकार बना सकती है।

6. चीनी से मसूड़े की बीमारी हो सकती है (Causes gum problems)

बढ़ते प्रमाण से पता चलता है कि पुराने संक्रमण, जैसे कि दंत समस्याओं के परिणामस्वरूप, हृदय रोग के विकास में भूमिका निभाते हैं। यह संबंध संक्रमण के लिए शरीर की भड़काऊ प्रतिक्रिया से उपजा है। सौभाग्य से, यह दोनों तरीकों से काम करता है। एक स्वस्थ जीवन शैली बनाए रखने से आपके सामान्य रोगों का खतरा कम हो जाएगा, जिससे यह संभावना कम हो जाती है कि वे बाद में और अधिक गंभीर स्थिति बन जाएंगे।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment