Create

सफेद मूसली के 3 नुकसान: Safed Musli Ke 3 Nuksan

फोटो- Healthunbox
फोटो- Healthunbox

कई सालों से बहुत सी चीजों के लिए आयुर्वेदिक और हर्बल चीजों का इस्तेमाल किया जा रहा है। आयुर्वेद में कई तरह की जड़ी बूटियां हैं और उन्हीं में से एक है सफेद मूसली भी है। आयुर्वेद में सफेद मूसली का प्रयोग सेहत के लिए बहुत महत्वपूर्ण माना गया है। आयुर्वेद में इसे व्हाइट गोल्ड और दिव्य औषधी के नाम से भी जाना जाता है। सफेद मूसली में कई स्वास्थ्य गुण पाए जाते हैं जो सेहत के लिए बहुत लाभकारी है। पुरुषों की सेक्सुअल हेल्थ के लिए सफेद मुसली को वरदान बताया गया है। लेकिन क्या आप जानते हैं सफेद मूसली के फायदे के साथ-साथ नुकसान भी हो सकते हैं।

सफेद मूसली से होने वाले 3 नुकसान: Safed Musli Se Hone Wale 3 Nuksan

शुगर का स्तर - अगर किसी को शुगर की समस्या है तो उसे सफेद मूसली का ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे रक्त में मौजूद शुगर के स्तर को कम हो सकता है। इसलिए, लो शुगर के मरीजों या फिर शुगर की दवा खा रहे मरीजों को इसका सेवन करने से बचना चाहिए।

पेट की समस्या - अगर किसी भी व्यक्ति को किसी भी चीज के अधिक सेवन नुकसान हो तो उसे उसका सेवन नहीं करना चाहिए। वैसे ही सफेद मूसली का अधिक मात्रा में सेवन पेट और आंतों से संबंधित समस्याओें का कारण बन सकता है, जिसमें कब्ज, एसिडी, इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम आदि शामिल है।

भूख कम होना - सफदे मूसली का अधिक सेवन करने से भूख कम हो सकती है और पाचन संबंधी क्रियाओं में कुछ हद तक हानिकारक परिणाम दिखा सकता है, इसलिए किसी को भी सफेद मूसली का अधिक सेवन नहीं करना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment