शतावरी पाउडर के फायदे

शतावरी पाउडर के फायदे (sportskeeda Hindi)
शतावरी पाउडर के फायदे (sportskeeda Hindi)

शतावरी (Shatavari) एक ऐसी आयुर्वेदिक जड़ी बूटी जो हर एक वर्ग के लोगों के लिए लाभकारी होती है। इसमें कई तरह के पोषक तत्व जैसे- प्रोटीन, एनर्जी, कार्बोहाइड्रेट, शुगर, मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन और कई तरह के विटामिंस पाए जाते हैं। शतावरी का इस्तेमाल कई तरह की परेशानियां जैसे - मोटापा, लो स्पर्म काउंट, प्रजनन क्षमता में सुधार लाने के लिए किया जाता है। तो चलिए जानते हैं Shatavari पाउडर के फायदे।

youtube-cover

शतावरी पाउडर के फायदे : Shatavari Powder Ke Fayde In Hindi

शारीरिक क्षमता बढ़ाने के लिए -

अगर किसी पुरुष को अपनी शारीरिक क्षमता बढ़ानी है तो इसके लिए शतावरी (Shatavari) करना फायदेमंद होता है। यह उनके यौन जीवन पर सकारात्मक असर डाल सकता है। इसका उपयोग करने के लिए रात के समय सोने से पहले हल्के गुनगुने दूध के साथ Shatavari का सेवन करना चाहिए। इससे मांसपेशियां मजबूत होती हैं। इसके साथ ही शतावरी शारीरिक कमजोरी को दूर करने में प्रभावी होता है।

स्वप्नदोष दूर करने के लिए -

पुरुषों को स्वप्नदोष की परेशानी से छुटकारा दिलाने के लिए शतावरी (Shatavari) लाभकारी हो सकती है। इसके लिए शतावरी का चूर्ण लें। इसमें थोड़ी सी मिश्री मिक्स करके दूध के साथ सेवन करें। इससे स्वप्न दोष की परेशानी से लाभ मिलेगा।

बढती उम्र के प्रभाव को कम करने के लिए -

Shatavari में एंटीऑक्सीडेंट और ग्लूटाथियोन नामक तत्व पाए जाते हैं, जो बढ़ती उम्र की प्रक्रिया को धीमा करने में आपकी मदद करता है। अगर आप नियमित रूप से शतावरी का सेवन करते हैं तो इससे झुर्रियों की परेशानी और शारीरिक कमजोरी को दूर करने में मदद मिलती है। इसके अलावा यह सूर्य की हानिकारण किरणों से भी बचाव करता है।

लो स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए -

जो लोग लो स्पर्म काउंट की समस्या से जूझ रहे हैं उनके लिए शतावरी लाभकारी हो सकती है। साथ ही इससे इनफर्टिलिटी की परेशानी दूर हो सकती है।

कैंसर से बचाव करता है -

अगर आप शतावरी का नियमित रूप से सेवन करते हैं तो इससे कैंसर जैसी घातक बीमारी को दूर किया जा सकता है। इसमें एंटीकैंसर गुण पाया जाता है, जो शरीर में कैंसर की कोशिकाओं को विकसित होने से रोकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan