Create
Notifications

डायबिटीज में तरबूज खाना चाहिए या नहीं- diabetes me Tarbooj khana chahiye ya nahi

डायबिटीज में तरबूज खाना चाहिए या नहीं
डायबिटीज में तरबूज खाना चाहिए या नहीं
Ritu Raj

Should diabetic patient eat watermelon or not in hindi: इन दिनों डायबिटीज के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ते जा रही है। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण गलत खान-पान और लाइफस्टाइल है। आज के समय में ये समस्या युवाओं में भी तेजी से देखने को मिल रही है। एक बार डायबिटीज हो जाने पर मरीज सारी चीजों को नहीं खा सकता है। सबसे बड़ा रोक उनके खाने-पीने पर ही लगता है। क्योंकि, कई चीजों ऐसी होती हैं जो शुगर लेवल को बढ़ा या घटा सकती हैं। ऐसे में सही भोजन का चुनाव करना होता है। साथ ही सारे फलों को इसमें नहीं खा सकते हैं। कुछ फल ऐसे हैं जिनके सेवन से बचने की सलाह दी जाती है। वहीं, तरबूज को लेकर काफी लोगों का सवाल रहता है कि मधुमेह की समस्या में इसका सेवन करना चाहिए या नहीं।

डायबिटीज में तरबूज खाना चाहिए या नहीं

डायबिटीज के मरीजों को मीठे फलों का सेवन करने से मना किया जाता है। इसके चलते ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। ऐसे में मरीजों को उन फलों का सेवन करना चाहिए जिनका ग्लाइकेमिक इंडेक्स कम होता है और गर्मियों के मौसम में खूब पसंद किया जाने वाले तरबूज का ग्लाइकेमिक इंडेक्स करीब 72 है। एक रिपोर्ट की मानें तो डायबिटीज के मरीज सीमित मात्रा में तरबूज खा सकते हैं।

तरबूज के अधिक सेवन से बचें |Avoid excessive consumption of watermelon

डायबिटीज मरीजों को तरबूज के अधिक सेवन से बचना चाहिए। ऐसा नहीं करने पर इसका परिणाम हानिकारक हो सकता है। बताया गया है कि, हफ्ते में एक या दो बार तरबूज का सेवन किया जा सकता है। हालांकि, एक बार अपने डॉक्टर से पूछ लें तो सही रहेगा।

तरबूज के पोषक तत्व |Watermelon Nutrients

तरबूज में 0 प्रतिशत से भी ज्यादा पानी होता है जो हमारे शरीर को हाइड्रेट रखता है।

इसमें विटामिन ए

विटामिन सी

पोटैशियम

मैग्नीशियम

विटामिन बी 6

फाइबर

आयरन और कैल्शियम के अलावा कई और तत्व होते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Ritu Raj

Comments

Fetching more content...