मोबाइल-लैपटॉप के ज्यादा इस्तेमाल से हो सकती हैं ये गंभीर समस्याएं : Mobile Laptop Ke Jyada Istemal Se Ho Sakte Hai Ye Gambhir Samasya

मोबाइल-लैपटॉप के ज्यादा इस्तेमाल से हो सकती हैं ये गंभीर समस्याएं (फोटो - sportskeeda hindi)
मोबाइल-लैपटॉप के ज्यादा इस्तेमाल से हो सकती हैं ये गंभीर समस्याएं (फोटो - sportskeeda hindi)

आज के समय में लोग डिजिटल (digital) युग में जी रहे हैं। जहां देखों वहीं गैजेट्स का इस्तेमाल अधिक होने लगा है, जिसका असर लोगों की सेहत (health) पर देखने को मिलता है। इसके दो सबसे प्रमुख कारण हैं, पहला कि गैजेट्स के कारण लोग घंटों बैठे रहते हैं, दूसरा इनका इस्तेमाल करते समय लोग सही पॉस्चर का ध्यान भी नहीं रखते हैं। जिसकी वजह से स्पाइन से जुड़ी समस्याओं के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। ये समस्याएं चिंता का बड़ा कारण बनती जा रही है। जानते हैं इसकी वजह से लोगों को किन-किन समस्या का कामना करना पड़ता है।

मोबाइल-लैपटॉप के ज्यादा इस्तेमाल से हो सकती हैं ये गंभीर समस्याएं

सर्वाइकल पेन - Cervical Pain - गर्दन में दर्द होने को सर्वाइकल पेन कहते हैं। गर्दन से होकर गुजरने वाले सर्वाइकल स्पाइन के जोड़ों और डिस्क में समस्या होने से सर्वाइकल पेन हो जाता है। यह हड्डियों और डिस्क में पतन/घिसने के कारण होने से होता है। लंबे समय तक कम्प्युटर पर लगातार कई घंटों झुककर काम करना और मोबाइल को सिर और कंधे के बीच में फंसाकर लंबी बातें करना सर्वाइकल पेन के सबसे प्रमुख रिस्क फैक्टर बनकर उभर रहे हैं।

लोवर बैक पेन - Lower Back Pain - आज के समय में लोग बहुत देर तक कम्प्युटर पर लगातार एक ही स्थिति में बैठकर काम करके हैं, एक के बाद एक कई वर्चुअल मीटिंग्स में शामिल होना, शारीरिक सक्रियता की कमी, नियमित दिनचर्या का पालन न करना कमरदर्द का कारण बन रहा है।

पैरों से संबंधित समस्याएं - Leg Related Problems - अक्सर लोगों के घरों में प्रोफेशनल वर्क स्टेशन नहीं होता इसकी वजह से लोग पलंग, सोफे या गद्दे पर बैठकर पैरों को फोल्ड करके काम करते हैं। जिससे उन्हें पैरों से संबंधित कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment