Create

सूरजमुखी बीज के फायदे : Surajmukhi Bij Ke Fayde

सूरजमुखी बीज के फायदे (फोटो - sportskeeda hindi)
सूरजमुखी बीज के फायदे (फोटो - sportskeeda hindi)

सेहत के लिहाज से नट्स और सीड्स को डाइट में शामिल करना काफी लाभदायक होता है। ऐसे में आप भी मुट्ठी सूरजमुखी के बीजों का हर रोज सेवन कर सकते हैं। जिनमें भारी मात्रा में प्रोटीन, फाइबर, विटामिन ई जैसे पौष्टिक तत्व प्राप्त होते हैं। मधुमेह और उच्च रक्तचाप के रोगियों को सूरजमुखी के बीजों का सेवन (Sunflower Seeds benefits) जरूर करना चाहिए। सूरजमुखी के बीज आमतौर पर ड्राई और रोस्टेड (सूखे और भुने हुए) खाए जाते हैं। आइए जानते हैं सूरजमुखी के बीज के फायदे (surajmukhi ke bij ke fayde)।

सूरजमुखी बीज के फायदे : Surajmukhi Bij Ke Fayde In Hindi

दिल का स्वास्थ्य - सूरजमुखी के बीजों में हेल्दी फैट्स भरपूर (Healthy Fats Source Foods) मात्रा में होता है। सूरजमुखी के बीज जैसे हेल्दी फैट्स से युक्त बीजों का सेवन करने से हाई कोलेस्ट्रॉल (High Cholesterol), हाई बीपी (High BP) और दिल के रोगों का खतरा (Heart Disease Risk) कम हो सकता है।

मधुमेह रोगी (डायबिटिक पेशेंट) - मधुमेह (sugar) रोगी को रोजाना मुट्ठी भर सूरजमुखी के बीज का सेवन करना चाहिए। सूरजमुखी के बीज को ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में असरदार देखा गया है। सूरजमुखी के बीजों को कार्ब्स रिच फूड्स के साथ खाने से शरीर पर होने वाला कार्ब्स का प्रभाव कम किया जा सकता है।

इंफ्लामेशन कम करता है - क्रॉनिक इंफ्लामेशन के कारण व्यक्ति के अर्थराइटिस (Arthritis), जोड़ों में दर्द (Joint Pain Home Remedy) आदि समस्याएं हो सकती हैं। जिससे राहत पाने के लिए एंटी-इंफ्लामेटरी गुण प्रदान करने वाले सूरजमुखी (Surajmukhi) के बीजों का सेवन किया जा सकता है। सूरजमुखी के बीजों में विटामिन ई, फ्लेवोनोइड्स और अन्य तत्व होते हैं, जो शरीर में इंफ्लामेशन को कम करते हैं।

मजबूत इम्यून सिस्टम - अगर किसी व्यक्ति का इम्यून सिस्टम (immune system) कमजोर है तो इसके कारण आपको बार-बार सर्दी-जुखाम जैसी समस्या होती है, तो ऐसे में आपको सूरजमुखी (sunflower) के बीज का सेवन करना चाहिए। इसमें मौजूद जिंक, सेलेनियम और अन्य पौष्टिक तत्व इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने और इंफ्लामेशन, संक्रमण आदि से लड़ने में मदद करते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
1 comment