Create

विटामिन D की कमी के लक्षण और 3 इलाज - Symptoms And Treatment Of Vitamin D Deficiency

विटामिन D की कमी के लक्षण और इलाज (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
विटामिन D की कमी के लक्षण और इलाज (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar

त्वचा के सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आने की प्रतिक्रिया में शरीर द्वारा विटामिन D का उत्पादन किया जाता है और इसे 'सनशाइन विटामिन' भी कहा जाता है। हड्डियों के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए विटामिन D आवश्यक है क्योंकि यह आहार से कैल्शियम के अवशोषण में सहायता करता है। विटामिन डी की कमी को रिकेट्स से जोड़ा गया है, एक बीमारी जो हड्डी और कंकाल की विकृति का कारण बनती है।

विटामिन D हाई बीपी (high blood pressure), ग्लूकोज इनटॉलेरेंस (glucose intolerance), मल्टीपल स्केलेरोसिस (multiple sclerosis) और मधुमेह (diabetes) सहित कई अन्य स्वास्थ्य स्थितियों से सुरक्षा में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अंडे की जर्दी, मछली, मछली के लिवर का तेल और मजबूत डेयरी उत्पाद विटामिन D के कुछ प्राकृतिक स्रोत हैं। इस लेख में विटामिन D के लक्षण तथा कुछ इलाज बताये गए हैं, इन्हें जानने के लिए लेख को अंत तक पढ़ें।

विटामिन D की कमी के लक्षण और 3 इलाज - Symptoms And Treatment Of Vitamin D Deficiency In Hindi

विटामिन D की कमी के लक्षण : Symptoms of Vitamin D Deficiency In Hindi

पीठ के निचले हिस्से और हड्डियों में दर्द होना,

थकान महसूस होना,

घावों का धीरे-धीरे ठीक होना,

लो बोन मिनरल डेंसिटी,

बालों का झड़ना,

मांसपेशियों में दर्द होना,

डिप्रेशन।

विटामिन D की कमी के इलाज : Vitamin D Deficiency Treatment In Hindi

1. सुबह अधिक समय बाहर बिताएं (spend more time in the morning)

हर दूसरे दिन धूप में 10 से 15 मिनट बिताएं। गहरे रंग की त्वचा वालों के लिए थोड़ा ज्यादा देर तक समय बिताना फायदेमंद है। हालाँकि कुछ सावधानी भी बरतें क्योंकि धूप में बिताया गया समय आपकी त्वचा के कैंसर के खतरे को बढ़ा सकता है। स्किन कैंसर फाउंडेशन के अनुसार, जो लोग रोजाना सनस्क्रीन लगाते हैं, वे स्वस्थ विटामिन D के स्तर को बनाए रख सकते हैं - इसलिए सनस्क्रीन आपकी ज़रूरत के अनुसार सुरक्षित रूप से धूप में निकलने में आपकी मदद कर सकता है।

2. भोजन में बदलाव लाएं (Update your diet)

भोजन मुख्य रूप से विटामिन D की कमी को पूरा करने का स्रोत नहीं है। यह स्वस्थ विटामिन D के स्तर को बनाए रखने के लिए उपयोगी हो सकता है। जिन खाद्य पदार्थों में विटामिन D होता है उनमें शामिल हैं: वसायुक्त मछली (जैसे, सामन और स्वोर्डफ़िश), कॉड लिवर तेल, नट्स, अनाज। डेयरी उत्पाद - पनीर, अंडे और मशरूम में विटामिन D पाया जाता है।

3. सप्लीमेंट्स लें (Take supplements)

विटामिन D के दो प्रमुख रूप हैं: विटामिन D2 (ergocalciferol) और विटामिन D3 (cholecalciferol), जिनमें से बाद वाले का उपयोग अधिकांश सप्लीमेंट्स में किया जाता है।

*ध्यान रखें कि पेट में विटामिन D के अवशोषण को प्रभावित करने वाली चिकित्सीय स्थितियों वाले लोगों और विटामिन D मेटाबोलिज्म को प्रभावित करने वाली दवाएं लेने वाले लोगों के इलाज के लिए उच्च खुराक की आवश्यकता होगी।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...