महिलाओं में सबसे अधिक होता है UTI का खतरा, जानिए लक्षण और बचाव

महिलाओं में सबसे अधिक होता है UTI का खतरा, जानिए लक्षण और बचाव (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
महिलाओं में सबसे अधिक होता है UTI का खतरा, जानिए लक्षण और बचाव (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

मूत्र पथ के संक्रमण (यूटीआई) एक आम और दर्दनाक स्थिति है जो हर साल लाखों लोगों को प्रभावित करती है। जबकि पुरुष और महिला दोनों यूटीआई विकसित कर सकते हैं, शरीर रचना में अंतर के कारण महिलाओं को स्थिति विकसित होने का अधिक खतरा होता है। इस लेख में हम महिलाओं में यूटीआई के लक्षण और बचाव के बारे में चर्चा करेंगे।

youtube-cover

महिलाओं में सबसे अधिक होता है UTI का खतरा, जानिए लक्षण और बचाव (Symptoms and Prevention Of UTI In Women In Hindi)

महिलाओं में UTI के लक्षण (Symptoms of UTIs in Women)

UTI के लक्षण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न हो सकते हैं, लेकिन कुछ सामान्य संकेत और लक्षण हैं जिनके बारे में महिलाओं को पता होना चाहिए। इसमे शामिल है:- पेशाब करते समय दर्द या जलन महसूस होना।

- बार-बार पेशाब करने की इच्छा होना, लेकिन बहुत कम मात्रा में पेशाब आना।

- धुंधला या दुर्गंधयुक्त मूत्र।

- पेशाब में खून आना।

- पेट के निचले हिस्से या पीठ में दर्द या दबाव।

- बुखार और ठंड लगना (गंभीर मामलों में)।

महिलाओं में UTI की रोकथाम (Prevention of UTIs in Women)

अच्छी खबर यह है कि UTI को रोकने के लिए महिलाएं कई कदम उठा सकती हैं। यहाँ कुछ उपयोगी सुझाव दिए गए हैं:-

1. हाइड्रेटेड रहें: खूब पानी पीने से बैक्टीरिया को बाहर निकालने और यूटीआई के विकास के जोखिम को कम करने में मदद मिल सकती है।

2. बार-बार पेशाब करें: मूत्राशय को नियमित रूप से खाली करने से बैक्टीरिया के विकास को रोकने में मदद मिल सकती है।

3. ठीक से पोंछें: शौचालय का उपयोग करने के बाद हमेशा आगे से पीछे की ओर पोंछें। यह बैक्टीरिया को गुदा से मूत्रमार्ग तक फैलने से रोकने में मदद कर सकता है।

4. ढीले, सांस लेने योग्य कपड़े पहनें: चुस्त-फिटिंग कपड़े एक गर्म, नम वातावरण बना सकते हैं जो बैक्टीरिया के बढ़ने के लिए आदर्श है।

5. परेशान करने वाले उत्पादों का उपयोग करने से बचें: महिलाओं को जननांग क्षेत्र में सुगंधित उत्पादों, डूश या पाउडर का उपयोग करने से बचना चाहिए, क्योंकि वे मूत्रमार्ग को परेशान कर सकते हैं और यूटीआई के जोखिम को बढ़ा सकते हैं।

6. संभोग के बाद ब्लैडर को खाली करें: सेक्स के दौरान यूरेथ्रा में प्रवेश करने वाले किसी भी बैक्टीरिया को बाहर निकालने में मदद करने के लिए महिलाओं को सेक्स करने के तुरंत बाद पेशाब कर देना चाहिए।

7. प्रोबायोटिक्स लें: प्रोबायोटिक्स शरीर में बैक्टीरिया के स्वस्थ संतुलन को बनाए रखने और यूटीआई के जोखिम को कम करने में मदद कर सकते हैं।

अंत में, यूटीआई एक आम और दर्दनाक स्थिति है जो शरीर रचना में अंतर के कारण पुरुषों की तुलना में महिलाओं को अधिक प्रभावित करती है। अच्छी खबर यह है कि UTI के विकास के जोखिम को कम करने के लिए महिलाएं कई कदम उठा सकती हैं, जिसमें हाइड्रेटेड रहना, बार-बार पेशाब करना, ठीक से पोंछना, ढीले कपड़े पहनना, परेशान करने वाले उत्पादों से बचना, सेक्स के बाद मूत्राशय खाली करना, और प्रोबायोटिक्स लेना। यदि आप UTI के लक्षणों का अनुभव कर रहे हैं, तो स्थिति को बिगड़ने से रोकने के लिए तुरंत चिकित्सा की तलाश करना महत्वपूर्ण है। उचित रोकथाम और उपचार के साथ, UTI को प्रभावी ढंग से प्रबंधित किया जा सकता है, जिससे महिलाएं स्वस्थ, आरामदायक जीवन जी सकती हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

App download animated image Get the free App now