Create
Notifications

रसभरी के फायदे और नुकसान - Rasbhari Ke Fayde Aur Nuksan 

रसभरी के फायदे और नुकसान ( फोटो - Sportskeeda Hindi )
रसभरी के फायदे और नुकसान ( फोटो - Sportskeeda Hindi )
Shilki

रसभरी (Raspberries) एक फल का नाम है। जो दिखने में छोटी और गोल, नारंगी रंग की होती है। रसभरी को केप गूसबेरी भी कहा जाता है। कुछ जगहों पर लोग इसे मकोय के नाम से भी जानते हैं। रसभरी का स्वाद खट्टा-मीठा होता है। इसमें कई औषधीय गुण भी मौजूद होते हैं। डायबिटीज के मरीजों के लिए रसभरी (Rasbhari) बेहद ही लाभदायक फल होता है। जिस तरह से इसके फल के औषधीय गुण होते हैं।इसी तरह इसकी पत्तियां भी कई रोगों से बचाती हैं। इसकी पत्तियों से बने काढ़े को पीने से शरीर में होने वाली सूजन से निजात पाया जा सकता है।

बवासीर (Piles) की समस्या में भी रसभरी बहुत कारगर साबित हुई है। रसभरी में बहुत सारे पोषक तत्व पॉलीफिनॉल, केरिटिनॉयडस, विटामिन-ए, कैल्शियम, फोस्फोरस, फाइटोकैमिकल्स, एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं और रसभरी की पत्तियों में फॉस्फोरस, आयरन, विटामिन ए, सी, कैल्शियम आदि मौजूद होते हैं। तो आइए जानते हैं रसभरी खाने के फायदे और नुकसान क्या हैं-

रसभरी खाने के फायदे

आंखों के लिए फायदेमंद है रसभरी (Raspberry is beneficial for eyes)

रसभरी में विटामिन सी के अलावा विटामिन ए भी काफी मात्रा में होता है, जो आंखों की सेहत और रोशनी को बढ़ाता है। इसमें आयरन की मात्रा पाई जाती है, जो आंखों की सेहत के लिए जरूरी पोषक तत्व है। यही नहीं, इसके सेवन से मोतियाबिंद जैसी समस्या और बढ़ती उम्र में मैक्युलर डिजनरेशन (Macular degeneration) की समस्या से बचा जा सकता है।

हाई ब्लड प्रेशर को करे कंट्रोल (Control high blood pressure)

रसभरी में फाइटो-केमिकल्स (Phytochemical) जैसे पॉलीफेनॉल्स (Polyphenol), कैरोटेनॉइड (Carotenoid) होते हैं, जो हाई बल्ड प्रेशर के स्तर को नार्मल करने में मदद करते हैं। साथ ही इसमें मौजूद विटामिन सी से बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद मिलती है।

रसभरी से मिले हड्डियों को मजबूती (Raspberries strengthen bones)

रसभरी फल में कैल्शियम और फॉस्फोरस की मात्रा अधिक होती है, जो हड्डियों को मजबूती देता हैं। इसके अलावा ये डर्मेटाइटिस (Dermatitis) और रूमेटिज्म (Rheumatism) जैसी समस्याओं को भी कंट्रोल करने में मदद करता है।

डायबिटीज रोगियों के लिए लाभदायक है रसभरी (Raspberries are beneficial for diabetics)

रसभरी में अधिक मात्रा में घुलनशील फाइबर जैसे फ्रुक्टोज होते हैं, इसलिए ये डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद हो सकती है। रसभरी बढ़े हुए ब्लड शुगर लेवल को भी कम करने में मदद करती है। यदि आपको डायबिटीज है, तो डायबिटीज के एक्सपर्ट से सलाह लेकर आप इसका सेवन कर सकते हैं।

रसभरी के नुकसान

कच्ची रसभरी ज़हर के समान होती है। ऐसे इसका सेवन न करें।

जंगली रसभरी खाने से बचें।

हर व्यक्ति को बेरीज सूट नहीं होती। कुछ लोगों को इससे ऐलर्जी भी हो सकती है। तो ऐसे में आप रसभरी खाने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें ।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Shilki

Comments

Fetching more content...