ब्लड शुगर कंट्रोल करने में असरदार हैं ये 7 मसालें

ब्लड शुगर कंट्रोल करने में असरदार हैं ये 7 मसालें (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
ब्लड शुगर कंट्रोल करने में असरदार हैं ये 7 मसालें (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने की उनकी क्षमता के लिए कई मसालों का अध्ययन किया गया है। जबकि उन्हें चिकित्सा उपचार या आहार संबंधी सिफारिशों को प्रतिस्थापित नहीं करना चाहिए, इन मसालों को संतुलित आहार में शामिल करने से कुछ लाभ मिल सकते हैं। यहां कुछ मसाले हैं जो रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करने का वादा करते हैं:-

ब्लड शुगर कंट्रोल करने में असरदार हैं ये 7 मसालें (These 7 spices are effective in controlling blood sugar in hindi)

youtube-cover

दालचीनी

दालचीनी संभावित एंटीडायबिटिक प्रभाव वाला एक लोकप्रिय मसाला है। यह इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार करने में मदद कर सकता है, कोशिकाओं द्वारा ग्लूकोज की मात्रा बढ़ा सकता है, और उपवास रक्त शर्करा के स्तर को कम कर सकता है। अपने आहार में दालचीनी को दलिया, दही पर छिड़ककर या चाय या स्मूदी में मिलाकर कुछ लाभ प्रदान कर सकते हैं।

हल्दी

हल्दी में कर्क्यूमिन नामक एक सक्रिय यौगिक होता है, जिसका इसके संभावित एंटीडायबिटिक गुणों के लिए अध्ययन किया गया है। कर्क्यूमिन रक्त शर्करा के स्तर को कम करने, इंसुलिन प्रतिरोध को कम करने और अग्न्याशय की कोशिकाओं के कार्य में सुधार करने में मदद कर सकता है। हल्दी को व्यंजन में शामिल करना या हल्दी की चाय का आनंद लेना इसे अपने आहार में शामिल करने का एक स्वादिष्ट तरीका हो सकता है।

अदरक

अदरक का पारंपरिक रूप से इसके औषधीय गुणों के लिए उपयोग किया जाता रहा है, जिसमें रक्त शर्करा नियंत्रण के संभावित लाभ भी शामिल हैं। यह इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार करने, फास्टिंग ब्लड शुगर के स्तर को कम करने और मधुमेह से जुड़ी जटिलताओं को कम करने में मदद कर सकता है। अदरक को भोजन में जोड़ा जा सकता है, अदरक की चाय के रूप में सेवन किया जा सकता है या स्मूदी में इस्तेमाल किया जा सकता है।

मेंथी

मेथी के बीज घुलनशील फाइबर से भरपूर होते हैं और हाइपोग्लाइसेमिक प्रभाव दिखाते हैं। वे कार्बोहाइड्रेट के अवशोषण को धीमा करने में मदद कर सकते हैं, इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार कर सकते हैं, और भोजन के बाद (भोजन के बाद) रक्त शर्करा के स्तर को कम कर सकते हैं। मेथी के बीजों को भिगोकर खाया जा सकता है या खाना पकाने में मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

लहसुन

लहसुन में ऐसे यौगिक होते हैं जो इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार करने और रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं। इसके हृदय संबंधी लाभ भी हो सकते हैं और समग्र स्वास्थ्य में योगदान कर सकते हैं। लहसुन को भोजन में शामिल करना और इसे अपने खाना पकाने में शामिल करना स्वाद और संभावित स्वास्थ्य लाभ प्रदान कर सकता है।

ओरिगैनो

अजवायन संभावित एंटीडायबिटिक प्रभाव वाला एक सामान्य मसाला है। इसमें यौगिक होते हैं जो कोशिकाओं द्वारा ग्लूकोज को बढ़ाने और इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार करने में मदद कर सकते हैं। अजवायन को व्यंजन, सलाद, या घर के बने सॉस में शामिल करना इसे अपने आहार में शामिल करने का एक सरल तरीका हो सकता है।

लौंग

लौंग अपने विशिष्ट स्वाद और संभावित स्वास्थ्य लाभों के लिए जानी जाती है। वे इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार करने, रक्त शर्करा के स्तर को कम करने और टाइप 2 मधुमेह के विकास के जोखिम को कम करने में मदद कर सकते हैं। खाना पकाने में लौंग को शामिल करना या चाय जैसे स्वाद वाले पेय पदार्थों का उपयोग करना एक सुखद सुगंध और संभावित स्वास्थ्य लाभ जोड़ सकता है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि हालांकि इन मसालों ने कुछ अध्ययनों में वादा दिखाया है, अलग-अलग प्रतिक्रियाएं भिन्न हो सकती हैं। इसके अतिरिक्त, रक्त शर्करा नियंत्रण पर मसालों का समग्र प्रभाव आम तौर पर मामूली होता है, और उनका उपयोग संतुलित आहार, नियमित व्यायाम और चिकित्सा सलाह के साथ किया जाना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

App download animated image Get the free App now