तिल के लड्डू के फायदे- Til ke laddu ke fayde

तिल के लड्डू के फायदे ( फोटो- Healthshots )
तिल के लड्डू के फायदे ( फोटो- Healthshots )

सर्दियों के मौसम (Winter season) में तिल (Sesame seeds) के लड्डू का सेवन बहुत फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है, जिसके चलते तिल शरीर में गर्मी पहुंचाता है। तिल के लड्डू को गुड़ के साथ मिलाकर बनाया जाता है। जो स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक साबित होते हैं। तिल में भरपूर मात्रा में कैल्शिेयम, आयरन, मैग्नीशियम, जिंक, सेलेनियम, डाइट्री प्रोटीन और एमिनो एसिड पाए जाते हैं।

तिल के लड्डू के फायदे (Til ke laddu khane ke fayde in hindi)

पेट संबंधी बीमारी में लाभदायक

तिल में फाइबर की मात्रा पाई जाती है, जिससे पेट संबंधी बीमारी से छुटकारा मिलता है। तिल और गुड़ के बने लड्डू को खाने से कब्ज और एसिडिटी (Acidity) की समस्या से आराम मिलता है।

सर्दी जुकाम में आराम

तिल और गुड़ दोनों ही एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidant) गुणों से भरपूर होता है। जिससे किसी भी इंफेक्शन (Infection) से बचा जा सकता है। इसके सेवन से सर्दी जुकाम जैसी बीमारियां नहीं होती है।

गठिया में फायदेमंद

सर्दियों के मौसम में गठिया (Arthritis) में होने वाली सूजन की समस्या बढ़ जाती है। गठिया के मरीजों को तिल के लड्डू का सेवन जरूर करना चाहिए। इसके सेवन से गठिया में होने वाले सूजन में आराम मिलता है।

कैल्शियम की कमी को करता है दूर

जिनके शरीर में कैल्शियम (Calcium) की कमी होती है। उनको तिल के लड्डू का सेवन करना चाहिए। क्योंकि तिल में कैल्शियम की भरपूर मात्रा पाई जाती है। तिल के लड्डू के सेवन से हड्डियां (Bone) मजबूत होती हैं।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है

तिल के लड्डू के सेवन से रोग प्रतिरोधक (Immunity) क्षमता बढ़ती है। जो इंसान बार-बार बीमार पड़ते है। उनको तिल के लड्डू का सेवन करना चाहिए।

अनिद्रा की समस्या से छुटकारा

तिल के लड्डू का रोजाना सेवन करने से अनिद्रा की समस्या से छुटकारा मिलता है। जिन लोगों को नींद न आने की शिकायत होती है उनको रोजाना एक तिल के लड्डू का सेवन करना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Rakshita Srivastava