Create

हड्डियों को मजबूत बनाए तिल का तेल, जानिए अन्य 7 फायदे

हड्डियों को मजबूत बनाए तिल का तेल, जानिए अन्य 7 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
हड्डियों को मजबूत बनाए तिल का तेल, जानिए अन्य 7 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar

तिल का तेल (Sesame oil) तिल के बीजों (sesame seeds) से प्राप्त किया जाता है जो प्राकृतिक रूप से उगाए जाने वाले सर्वोत्तम तेलों में से एक है। तेल आमतौर पर एशिया, अफ्रीका आदि के उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में पाए जाने वाले बीजों से आता है। तिल के बीज में प्रोटीन, विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। लोग इसका उपयोग खाना पकाने के लिए करते हैं क्योंकि तिल के तेल के कई स्वास्थ्य लाभ शरीर को फिट रखने में मदद करते हैं। यहां हम तिल के तेल के लाभों के बारे में कुछ बुनियादी जानकारी देने जा रहे हैं, जानने के लिए लेख को अंत तक पढ़ें।

हड्डियों को मजबूत बनाए तिल का तेल, जानिए अन्य 7 फायदे - Til Ke Tel Ke Fayde In Hindi

1. बीपी कम करे (Reduce blood pressure)

तिल के तेल के कई फायदे हैं, जिनमें से यह सबसे आम और महत्वपूर्ण है कि यह बीपी (Blood pressure) को कम करता है। ऐसा लग सकता है कि ब्लड प्रेशर में कमी विटामिन E, सेसमोल और सेसमिन के कारण होती है।

2. तनाव और डिप्रेशन कम करे (Reduce stress and depression)

तिल के तेल में मौजूद अमीनो एसिड को टाइरोसिन (tyrosine) के नाम से जाना जाता है, जिसका सीधा संबंध सेरोटोनिन (serotonin) से होता है। यह एक न्यूरोट्रांसमीटर है जो हमारे मूड को प्रभावित करता है और इसमें असंतुलन से डिप्रेशन या तनाव हो सकता है। तिल का तेल शरीर में सेरोटोनिन के उत्पादन में मदद कर सकता है।

3. मौखिक स्वास्थ्य में सुधार करे (Improve oral health)

तिल के तेल के सबसे प्रमुख लाभों में से एक यह है कि यह मौखिक स्वास्थ्य में सुधार करता है। पुराने समय में तिल के तेल का इस्तेमाल ऑयल पुल्लिंग के लिए किया जाता रहा है। यह प्लाक को हटाने में मदद करता है।

4. तिल का तेल त्वचा के लिए लाभदायक (Sesame oil benefits for skin)

तिल भारतीय पारंपरिक आयुर्वेद चिकित्सा प्रणाली में एक उत्कृष्ट तत्व है। यह अपने जीवाणुरोधी, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के कारण मूल्यवान है। इसका उपयोग स्वस्थ और निखरी त्वचा के लिए सौंदर्य उपचार में किया जाता है क्योंकि इसमें प्राकृतिक रूप से SPF होता है।

5. एंटी-इंफ्लेमेटरी एजेंट (Anti-inflammatory agent)

तिल का तेल और बीज सेसमिन यौगिक से भरपूर होते हैं, जो पुरानी सूजन को कम करने में मदद करता है, त्वचा को प्रभावित करने वाले विभिन्न बैक्टीरिया, कवक से लड़ता है। शरीर में सूजन से मोटापा, हृदय रोग और गुर्दे की बीमारियां भी हो सकती हैं।

6. एनीमिया से बचाव करे (Prevents Anemia)

अगर हम अपने आहार में पर्याप्त मात्रा में तिल के तेल का सेवन करें तो एनीमिया से बचा जा सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि तिल में आयरन की मात्रा बहुत अधिक होती है और आयरन एनीमिया को ठीक करने में बहुत प्रभावी होता है। तिल के तेल का सेवन एनीमिया के लिए सबसे सुलभ घरेलू उपचारों में से एक है।

7. बालों के लिए लाभदायक (Beneficial for hair)

इसकी पौष्टिक, शांत और गर्म करने वाली प्रकृति इसे आदर्श मालिश तेल बनाती है। आयुर्वेद में, सिर की मालिश के लिए तिल के तेल के प्रयोग का विशेष महत्व है। इसके एंटीऑक्सीडेंट तत्व बालों को सफ़ेद होने से रोकते हैं, बालों के विकास को बढ़ावा देते हैं, जूँ का इलाज करते हैं और बालों को झड़ने को रोकते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...