Create

तुलसी घनवटी के फायदे: Tulsi Ghan Vati Ke Fayde

फोटो- healthdear
फोटो- healthdear

हर घर में तुलसी के पौधे को पूजा जाता है, इस पौधे को जीवन के लिए अमृत माना गया है। तुलसी में मौजूद औषधीय गुणों की वजह से इसे सभी जड़ी बूटियों में उपयोग किया जाता है। तुलसी की घनवटी भी तुलसी के समान हीं अनेक औषधीय गुणों से भरपूर है। बात अगर तुलसी घनवटी (Tulsi Ghanvati) की करे तो यह तुलसी के पत्तों के extract से बनी होती है, extract को हिन्दी में घन कहते हैं इसलिए तुलसी के घन से बने Tablets यानि कि वटी को तुलसी घनवटी कहते हैं।

तुलसी घनवटी के फायदे -

तुलसी का सेवन करने से व्यक्ति को कई फायदे होते हैं। तुलसी के पौधे और पत्तियों में एंटी बायोटिक ,एंटी बैकटेरियल, एंटी ऑक्सीडेंट के साथ हीं एंटी एलेर्जिक गुण भी पाये जाते है, जिसके कारण यह जीवाणु जनित रोग अथवा वायरस से होने वाले रोगों के प्रभाव को खत्म कर देता है अथवा कम कर देता है।

त्वचा रोग - त्वचा में फंगल इन्फेक्शन से होने वाली खुजली की समस्या में तुलसी घनवटी बहुत ही लाभकारी औषधी है। इससे त्वचा रोग ठीक हो जाते है, और दाद खुजली में भी राहत मिलती है।

तनाव कम करने के लिए - तनाव की वजह से अक्सर लोगों को नींद नहीं आती और लोगों को इसकी वजह से बेवजह गोलियों का सहारा लेना पड़ता है। तुलसी में शक्तिशाली एंटी स्ट्रेस एजेंट मौजूद होते है जो तनाव को कई हद तक कम करने का काम करते है।

तुलसी घनवटी का सेवन कैसे करें -

तुलसी घनवटी को सेवन करने के लिए आप गुनगुने पानी के साथ कर सकते हैं या फिर गुनगुने दूध के साथ लिया जाना फायदेमंद होता है। वहीं सुबह सुबह खाली पेट तुलसी घनवटी का सेवन करना चाहिए लेकिन अगर पाचन की समस्या रहती है तो इसे खाना खाने के बाद सेवन करेना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment