COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit

प्रोटीन पाउडर कितनी तरह के होते हैं और उन सबकी अलग-अलग खासियत

28   //    17 Aug 2018, 16:30 IST

जिम जाने वाले लोगों को आपने प्रोटीन शेक पीते हुए जरूर देखा होगा। प्रोटीन जिम जाने वाले लोगों की सबसे पहली और महत्वपूर्ण जरूरत है। सिर्फ जिम में जाकर पसीना बहाने से बॉडी और मसल्स नहीं बनते। शरीर के मसल्स के लिए सबसे महत्वपूर्ण होते हैं प्रोटीन।

शरीर की मसल्स प्रोटीन की वजह से ही बढ़ती हैं। जब हम एक्सरसाइज़ करते हैं तो शरीर के मसल्स (मांसपेशियां) टूट और अपनी जगह से हट जाती हैं। एक्सरसाइज़ करने के 30-45 मिनट बाद किसी न किसी प्रोटीन को लेना जरूरी होता है क्योंकि टूटी हुई मांसपेशियों तक जितनी जल्दी प्रोटीन जाएगा, मसल्स उतनी ही जल्दी बढ़ेंगे।

मुख्य तौर से प्रोटीन 4 तरह के होते हैं, आइए एक-एक कर इनके बारे में बात करते हैं।

वे (Whey) प्रोटीन पाउडर




जिम जाने वाले ज्यादातर लोग वे प्रोटीन का ही इस्तेमाल करते हैं। वे प्रोटीन बहुत ही जल्दी पच जाता है और मांसपेशियों तक तेजी से पहुंचता है। इसलिए एक्सरसाइज़ करने के बाद लोग वे प्रोटीन लेते हैं। वे प्रोटीन की खास बात ये भी होती है कि उसमें फैट, कार्बोहाइड्रेट और शुगर की मात्रा ना के बराबर होती है। मतलब आपको पूरी तरह से प्रोटीन ही मिलेगा।

वे प्रोटीन के साइड इफेक्ट्स बिल्कुल ना के बराबर होते हैं। इसमें वजन घटाने और कोलेस्ट्रॉल कम करने के गुण मौजूद होते हैं। इसके अलावा रिसर्च में पाया गया है कि इसका सेवन करने की वजह से हार्ट की बीमारियों का खतरा कम होता है।
1 / 4 NEXT
Fetching more content...