Create
Notifications

मुद्रा के प्रकार और लाभ - Mudra ke Prakar aur Labh

मुद्रा के प्रकार 10 और कमाल के लाभ
मुद्रा के प्रकार 10 और कमाल के लाभ
Ritu Raj

जिस तरह से योग (Yoga) हमारे शरीर के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। उसी तरह मुद्रा (Hand Gestures) भी हमारे तन और मन के लिए बेहद ही उपयोगी हैं। योग के बारे में बात करें तो ये भारत का प्राचीन विज्ञान है। मुद्राओं के बारे में बात करें तो, प्राचीन भारतीय ग्रंथों और वेदों में करीब 399 योग मुद्राओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है। इस लेख में 10 मुद्राओं के बारे में जानकारी दी गई है जिसके जरिए आप कई लाभ उठा सकते हैं।

मुद्रा के प्रकार और लाभ

1- ज्ञान मुद्रा (Gyan Mudra)

सुबह के वक्त पद्मासन में बैठ कर करने की सलाह दी गई है। ये मुद्रा ज्ञान और ध्यान के लिए प्रचलित है। इसके करने से ध्यान केंद्रित होता है, साथ ही अनिद्रा दूर होती है और गुस्से पर कंट्रोल होता है।

2- वायु मुद्रा (Vayu Mudra)

वायु मुद्रा हमारे शरीर में वायु को नियंत्रित करती है। इसे बैठकर करने पर ज्यादा फायदा होता है। इसे करने से पेट में गैस की समस्या दूर होती है।

3- अग्नि मुद्रा (Agni Mudra)

अग्नी मुद्रा को करने से शरीर में अग्नि तत्व नियंत्रित रहते हैं। इस मुद्रा को सुबह खाली पेट करने से लाभ मिलता है। इससे हमारा पाचन तंत्र ठीक ढंग से काम करता है। इसके साथ ही वजन भी घटता (Weight Loss) है।

4- वरुण मुद्रा (Varun Mudra)

शरीर में जल तत्व को नियंत्रित करने का काम वरुण मुद्रा करता है। इसके करने से फेस ग्लो करता है और साथ ही चेहरे के विकार दूर होते हैं। इससे चेहरा चमकदार बना रहेगा और इसकी नमी बरकरार रहती है।

5- प्राण मुद्रा (Pran Mudra)

प्राण मुद्रा हमारे जीवन से जुड़ी होती है। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यूनिटी बढ़ती है। हमारे आंखों की रौशनी तेज होती है। साथ ही शरीर की थकान दूर होती है।

6- पृथ्वी मुद्रा (Prithvi Mudra)

पृथ्वी मुद्रा को अगर नियमित रूप से किया जाए तो ये हमारे शरीर में खून के दौरे को ठीक करने के साथ ही हड्डियों को और साथ मांसपेशियों को मजबूत बनाती है।

7- शून्य मुद्रा (Shunya Mudra)

शून्य मुद्रा हमारे काने के लिए बेहद ही महत्वपूर्ण होती है। नियमित रूप से इसके करने से कानों का दर्द ठीक होता है। साथ ही उम्र बढ़ने के चलते कम सुनाई देने की समस्या भी ठीक होती है।

8- सूर्य मुद्रा (Surya Mudra)

नियमित रूप से सुबह के वक्त जो भी सूर्य मुद्रा को करता है उसके शरीर में दिनभर ऊर्जा बनी रहती है। इस मुद्रा को करते वक्त सूर्य की उर्जा हमारी शरीर के अंदर समा जाती है। जिससे कई सारे लाभ मिलते हैं। इसके करने से विटामिन डी की समस्या दूर होती है।

9- लिंग मुद्रा (Ling Mudra)

लिंग मुद्रा का ज्यादा लाभ पुरुषों को मिलता है। अगर पुरुष नियमित रूप से इस योग को करें तो ये शरीर को गर्म रखती है और साथ ही कामवासना को बढ़ाने में मदद करती है।

10- अपान मुद्रा (apana mudra)

इस मुद्रा को करने से काफी लाभ मिलता है। ये शरीर में जहरीले द्रव्य को बाहर निकालने में मदद करती है। इसके साथ ही मूत्र संबंधी समस्या को दूर करने के साथ ही पाचन क्रिया को दुरुस्त बनाती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Ritu Raj

Comments

Fetching more content...