Create

यूरिक एसिड बढ़ने पर न करें इन चीजों का सेवन-Uric Acid Badhne Par Nahi Karna Chaiye In Cheezon Ka Sevan

यूरिक एसिड बढ़ने पर न करें इन चीजों का सेवन(फोटो-Sportskeeda hindi)
यूरिक एसिड बढ़ने पर न करें इन चीजों का सेवन(फोटो-Sportskeeda hindi)

यूरिक एसिड की समस्या आजकल ज्यादातर लोगों में देखने को मिल रही है। यूरिक एसिड शरीर में जब बढ़ जाता है, तो किडनी, दिल और शरीर के दूसरे अंग को प्रभावित कर सकता है। इसलिए यूरिक एसिड बढ़ने पर लापरवाही नहीं करनी चाहिए। यूरिक एसिड बढ़ते पर पौष्टिक आहारों का सेवन करना चाहिए। क्योंकि कुछ चीजों का सेवन करने से शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा काफी तेजी से बढ़ती है। जानिए यूरिक एसिड बढ़ने पर किन चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए।

यूरिक एसिड बढ़ने पर न करें इन चीजों का सेवन (Uric Acid Badhne Par Nahi Karna Chaiye In Cheezon Ka Sevan In Hindi)

मसूर की दाल का न करें सेवन

यूरिक एसिड की शिकायत होने पर मसूर की दाल, चना और राजमा को खाने से परहेज करना चाहिए। क्योंकि इसका सेवन करने से यूरिक एसिड बढ़ने पर होने वाले दर्द और सूजन की शिकायत बढ़ सकती है।

दही का नहीं करना चाहिए सेवन

यूरिक एसिड के मरीजों को दही (Curd) का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि दही में प्रोटीन की अधिक मात्रा पाई जाती है। जो यूरिक एसिड के मरीजों को नुकसान पहुंचाता है। इसलिए यूरिक एसिड बढ़ने पर दही का सेवन नहीं करना चाहिए।

मछली और मांस होता है हानिकारक

शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने पर मछली (Fish) या मांस का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि इनमें प्यूरीन की मात्रा अधिक होती है। इसलिए इसके सेवन से यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ सकती है।

मशरूम का न करें सेवन

मशरूम का सेवन भी यूरिक एसिड की मात्रा को बढ़ाता है। क्योंकि इसमें भी प्यूरीन की मात्रा अधिक होती है। इसलिए यूरिक एसिड वाले मरीजों को मशरूम का सेवन नहीं करना चाहिए।

किशमिश का नहीं करना चाहिए सेवन

किशमिश (Raisins) का सेवन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है। लेकिन अगर किसी का यूरिक एसिड बढ़ा हो, तो उसे किशमिश का सेवन नहीं करना चाहिए। इसके सेवन से यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ सकती है।

पत्ता गोभी का नहीं करना चाहिए सेवन

हरी सब्जियों का सेवन स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभदायक साबित होता है। लेकिन अगर किसी का यूरिक एसिड बढ़ा हो, तो उसे पत्ता गोभी का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि पत्ता गोभी में प्यूरीन की अधिक मात्रा पाई जाती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Rakshita Srivastava
Be the first one to comment