Create

विटामिन डी की कमी के कारण हो सकता है डिमेंशिया- Vitamin D ki kami ke karan ho sakta hai dementia

विटामिन डी की कमी के कारण हो सकता है डिमेंशिया
विटामिन डी की कमी के कारण हो सकता है डिमेंशिया
reaction-emoji
Ritu Raj

कई रिसर्च में यह दावा किया जा चुका है कि विटामिन डी की अधिक कमी वाले लोगों में डिमेंशिया होने की संभावना ज्यादा रहती है। एक रिसर्च की मानें तो विटामिन डी की अधिक कमी वाले लोगों में डिमेंशिया होने की संभावना 122 प्रतिशत अधिक थी। विटामिन डी की कमी के चलते दिल से जुड़ी समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है। इसके साथ ही कई अन्य बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है।

विटामिन डी की कमी से हो सकता है ये रोग (Vitamin D deficiency can cause this disease)

विटामिन डी शरीर की लगभग हर कोशिका को प्रभावित करता है। यह सूर्य के प्रकाश में रहने पर त्वचा में उत्पन्न होता है और कैल्शियम के अवशोषण तथा हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। विटामिन डी का लेवल कम होने पर हड्डियों को नुकसान पहुंचता है। शरीर में विटामिन डी की पूर्ति दिल, मस्तिष्क और प्रतिरक्षा तंत्र के लिए भी काफी जरूरी है।

डिमेंशिया से बचने के लिए विटामिन डी जरूरी (Vitamin D is essential to prevent dementia)

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के अध्यक्ष डॉ के.के अग्रवाल के मुताबकि, विटामिन डी की कमी मैटाबोलिक सिंड्रोम, हृदय रोगों और प्रजनन क्षमता से जुड़ी हुई है। इसकी कमी से मनोभ्रंश भी हो सकता है। विटामिन डी के लिए साल में कम से कम 40 दिन 40 मिनट रोज सूर्य की रोशनी में रहना चाहिए। इसका सही लाभ तब मिलता है जब शरीर का कम से कम 40 प्रतिशत हिस्सा सूर्य की रोशनी के संपर्क में आए। भले ही सुबह या शाम के समय।

इनमें ज्यादा रहता है डिमेंशिया का खतरा (They have a higher risk of dementia)

यूनिवर्सिटी ऑफ एक्सेटर मेडिकल स्कूल के एक रिसर्च की मानें तो, बुजुर्गों में विटामिन डी के निचले स्तर से डिमेंशिया और अल्जाइमर के विकसित होने का खतरा दोगुना हो सकता है। यूनिवर्सिटी के डॉक्टर डेविड लेवेलिन के नेतृत्व वाले अंतरराष्ट्रीय दल ने रिसर्च के दौरान पाया कि, जिन लोगों में विटामिन डी की कमी थी, उनमें डिमेंशिया और अल्जाइमर की बीमारी पनपने की संभावना दोगुने से भी ज्यादा थी।

शोधकर्ताओं को पता चला कि, जिन वयस्कों में विटामिन डी की कमी थोड़ा थी, उनमें किसी भी तरह डिमेंशिया पैदा होने का खतरा 53 प्रतिशत था। लेकिन, जिनमें विटामिन डी की कमी का स्तर गंभीर था, उनमें यह खतरा 125 प्रतिशत था।

विटामिन डी के अच्छे स्रोत (good sources of vitamin d)

कॉड लिवर ऑयल

मशरूम

सामन- इसमें डी 3, ओमेगा 3 और प्रोटीन अधिक होता है।

सूरजमुखी के बीज

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Ritu Raj
reaction-emoji

Comments

comments icon
Fetching more content...