Create

फ्रिज में इस तरह न रखें तरबूज, फायदे की जगह हो जाएगा नुकसान : Fridge Me Is Tarah Na Rakhe Tarbuj, Fayde Ki Jagah Ho Jayega Nuksan

फ्रिज में इस तरह न रखें तरबूज, फायदे की जगह हो जाएगा नुकसान (फोटो - sportskeeda hindi)
फ्रिज में इस तरह न रखें तरबूज, फायदे की जगह हो जाएगा नुकसान (फोटो - sportskeeda hindi)

गर्मी के मौसम में हर किसी को तरबूज खाना पसंद होता है। यह फल शरीर को हाइड्रेट रखने में मदद करता है, क्योंकि इस फल में अधिक मात्रा में पानी होता है। लेकिन लोग गर्मी के मौसम में तरबूज को फ्रिज में रखकर ठंडा करके खाते हैं। लेकिन लोगों को इसका फायदा नहीं बल्कि नुकसान मिलता है। जानते हैं कैसे फ्रिज में रखा तरबूज (watermelon) खाने से नुकसान होता है।

फ्रिज में क्यों रखते हैं तरबूज?

लोग बाजार से जब तरबूज (Watermelon) खरीदकर घर लाते हैं तो इसका साइज काफी बड़ा होता है और इस फल को एक बार में खाना मुश्किल लगता है। ऐसे में लोग तरबूज को देर तक फ्रेश रखने के लिए इसे फ्रिज में रख देते हैं, लेकिन तरबूज को काटकर रेफ्रिजिरेटर में रखना नुकसानदेह साबित हो सकता है।

फ्रिज में देर तक तरबूज रखने के नुकसान -

बता दें तरबूज को फ्रिज (Watermelon in Fridge) में रखने से इसमें पाए जाने वाले विटामिन ए, विटामिन सी, लाइकोपेन और सिट्रोलिन जैसे अहम न्यूट्रिएंट्स (nutrients) की मात्रा कम हो जाती है। इसके साथ ही अगर इस फल को काटकर रिफ्रिजिरेटर में रखेंगे तो इससे आपको इन्फेक्शन हो सकता है जो आगे चलकर फूड प्वॉइजनिंग का कारण बन सकता है। इसलिए सबसे बेहतर ये है कि तरबूज को फ्रेश ही खाएं।

कितनी देर तक फ्रिज में रख सकते हैं तरबूज?

तरबूज (Watermelon) को फ्रिज में रखने की जरूरत नहीं होती क्योंकि इसका छिलका का मजबूत और मोटा होता है। वहीं अगर आप तरबूज को रिफ्रिजिरेटर में रखना चाहते है तो इसे बिना काटे रखें।

फ्रिज में रखे तरबूज खाने के नुकसान -

1. ठंडा तरबूज खाने से इसी न्यूट्रिशनल वैल्यू कम हो जाती है।

2. तरबूज को फ्रिज में रखकर खाने से खांसी-जुकाम (cold and cough) हो सकता है।

3. कटा हुआ ठंडा तरबूज फूड प्वॉइजनिंग (Food Poisoning) की वजह बन सकता है।

4. तरबूज में लगे बैक्टीरिया आंत को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

5. इस तरह से तरबूज खाने से पेट में गड़बड़ी हो सकती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment