उपवास के क्या लाभ हैं: मानसिक स्वास्थ्य

What are the benefits of fasting: Mental health
उपवास के क्या लाभ हैं: मानसिक स्वास्थ्य

उपवास एक निश्चित अवधि के लिए खाने-पीने से परहेज करने की प्रथा है। जबकि उपवास आमतौर पर धार्मिक या आध्यात्मिक प्रथाओं से जुड़ा होता है, हाल के अध्ययनों से पता चला है कि इसका मानसिक स्वास्थ्य पर भी महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ सकता है।

आज हम मानसिक स्वास्थ्य पर उपवास के लाभों का पता लगाएंगे और यह कैसे आपके समग्र स्वास्थ्य में सुधार कर सकते हैं।

बेहतर मूड

उपवास को मूड में सुधार और अवसाद और चिंता के लक्षणों को कम करने के लिए दिखाया गया है। एक अध्ययन में पाया गया कि आंतरायिक उपवास मस्तिष्क-व्युत्पन्न न्यूरोट्रॉफिक कारक (BDNF) के स्तर को बढ़ा सकता है, एक प्रोटीन जो मस्तिष्क में न्यूरॉन्स के विकास और अस्तित्व को बढ़ावा देता है। बीडीएनएफ का स्तर अक्सर अवसाद और चिंता वाले लोगों में कम होता है, और बीडीएनएफ के स्तर में वृद्धि से इन विकारों के लक्षणों में सुधार देखा गया है।

youtube-cover

तनाव के प्रति प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि

तनाव जीवन का एक स्वाभाविक हिस्सा है, लेकिन पुराने तनाव का मानसिक स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। उपवास शरीर में तनाव हार्मोन कोर्टिसोल के स्तर को कम करके तनाव के प्रति लचीलापन बढ़ाने के लिए दिखाया गया है। एक अध्ययन में पाया गया कि सिर्फ एक दिन के उपवास से स्वस्थ वयस्कों में कोर्टिसोल का स्तर कम हो गया। कोर्टिसोल के स्तर को कम करके उपवास मूड को सुधारने और अवसाद और चिंता के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है।

बढ़ा हुआ फोकस और एकाग्रता

बढ़ा हुआ फोकस और एकाग्रता!
बढ़ा हुआ फोकस और एकाग्रता!

उपवास ध्यान, एकाग्रता और स्मृति सहित संज्ञानात्मक कार्य में सुधार करने के लिए दिखाया गया है। एक अध्ययन में पाया गया कि अल्पकालिक उपवास स्वस्थ वयस्कों में संज्ञानात्मक प्रदर्शन में सुधार करता है। उपवास मस्तिष्क-व्युत्पन्न न्यूरोट्रॉफिक कारक (बीडीएनएफ) के स्तर को बढ़ाने के लिए भी दिखाया गया है, जो मस्तिष्क में न्यूरॉन्स के विकास और अस्तित्व में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

सूजन में कमी

सूजन संक्रमण और चोट के लिए प्रतिरक्षा प्रणाली की एक स्वाभाविक प्रतिक्रिया है। हालांकि, पुरानी सूजन को अवसाद और चिंता सहित कई मानसिक स्वास्थ्य विकारों से जोड़ा गया है। उपवास रक्त में सूजन चिन्हकों के स्तर को कम करके शरीर में सूजन को कम करने के लिए दिखाया गया है। एक अध्ययन में पाया गया कि सिर्फ एक दिन का उपवास भड़काऊ मार्कर सी-रिएक्टिव प्रोटीन (सीआरपी) के स्तर को काफी कम कर सकता है।

बेहतर नींद

नींद अच्छे मानसिक स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है, और नींद की गुणवत्ता में सुधार के लिए उपवास दिखाया गया है। एक अध्ययन में पाया गया कि इंटरमिटेंट फास्टिंग से अनिद्रा से पीड़ित वयस्कों में नींद की गुणवत्ता और अवधि में सुधार हुआ। उपवास से हार्मोन मेलाटोनिन के स्तर में भी वृद्धि देखी गई है, जो नींद-जागने के चक्र को विनियमित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

App download animated image Get the free App now