Create

वेट मैनेजमेंट और मानसिक स्वास्थ का क्या है रिश्ता ? जानिये!

What is the relationship between weight management and mental health? Know!
वेट मैनेजमेंट और मानसिक स्वास्थ का क्या है रिश्ता ? जानिये!
वैशाली शर्मा

बात चाहे वज़न बढ़ाने की हो या घटाने की दोनों के लिए ही अनिवार्य है, सबसे पहले अपने दिमाग पर काम करना, आजकल का समय आसन नही है. लोग अपने जीवन में इतना व्यस्त हो चुकें हैं, की वो खुद पर ध्यान देना भूल गये हैं. एक स्टडी की माने तो "भारत में 30 मिलियन से अधिक मोटे लोग हैं, और यह संख्या खतरनाक रूप से बढ़ रही है (14-16)। पुरुषों की तुलना में महिलाओं में यह समस्या अधिक विकट है। शहरी भारत में, 23% से अधिक महिलाएं या तो अधिक वजन वाली या मोटापे से ग्रस्त हैं, जो पुरुषों (20%) में व्यापकता से अधिक है।"

ये आकड़े आप खुद भी गूगल पर चेक कर सकते हैं, ये डरावना है! पर क्या आप ने कभी सोचा है, की ऐसा क्यूँ होता है, हम ये बात जानते हुए भी अपने शरीर पर ध्यान केन्द्रित नही कर पाते. ऐसा क्यूँ है की हम कोशिश करते हैं और फिर बीच में ही एक्सरसाइज छोड़ कर फिर से वही गलत दिनचर्या फॉलो करने लग जाते हैं. यही जाने के लिए ज़रूरी है इसपर मानस के प्रभाव को जानना.

मानसिक स्वास्थ्य हमारे वजन को कैसे प्रभावित करता है?

कुछ लोगों का मानना है, की ये हमारे आलस के कारण है. हाँ बात सही है, पर आपको जान कर हैरानी होगी के इनमे से जादातर लोग इसलिए भी एक्सरसाइज बीच में छोड़ देते हैं या फिर शुरू ही नही करते है, जो असल में मानसिक रूप से स्वस्थ नही होते या फिर उनकी मानसिक छमता उन्हें तैयार नही होने देती. वजन कम करने के लिए मानसिक शक्ति और इच्छाशक्ति की आवश्यकता होती है। आपको मानसिक रूप से खुद को कसरत करने और अस्वास्थ्यकर खाद्य पदार्थों और आदतों से दूर रहने के लिए प्रेरित करना होगा। ऐसे कई तरीके हैं जिनसे हमारा मानसिक स्वास्थ्य हमारे शारीरिक स्वास्थ्य और वजन घटाने की यात्रा को प्रभावित करता है।

बहुत से लोग मानते हैं कि वजन कम करना आपकी शारीरिक सीमाओं को आगे बढ़ाने के बारे में है। हालाँकि, यह केवल आंशिक रूप से सही है। हर महत्वपूर्ण कदम की तरह, हमारे मन की स्थिति हमारे कार्यों को निर्देशित करने में एक अभिन्न भूमिका निभाती है।

निम्नलिखत कुछ बिन्दुओं पर ध्यान दें, ये आपको अपने वज़न को सही रखने में मानसिक रूप से मदद कर सकतें हैं:

१. अपनी दिनचर्या को सुधारें:

आप अपना दिन किस तरह व्यतीत कर रहे हैं, आप इसपर ध्यान दें और ये ज़रूर याद रखें की आपका दिन व्यवस्तित बीतना चाहिए, अन्यथा ये आपके लिए ठीक साबित नही होगा. आपका खाने से लेकर सोने तक का समय निश्चित होना चाहिए क्यूंकि आपको अपने जीवन में एक अनुशासन की ज़रुरत है जिसकी प्राथमिकता को आपको समझना होगा.

२. मूड में सुधार

अपने वजन घटाने की यात्रा का पालन करने के लिए आपको एक अच्छे मूड की आवश्यकता होती है और अपने मूड को बढ़ावा देने के लिए आपको अपनी वजन घटाने की यात्रा का पालन करने की आवश्यकता होती है। सकारात्मक रहना प्रेरित रहने का एक और तरीका है और यही कुछ चीज़ें मिलकर आपको और आपके मानस अथवा शरीर को स्वस्थ बनाने में आपकी मदद करेंगे.

३. खुद से बात करें:

बहुत से लोग अक्सर सब कुछ न करने की मानसिकता के कारण वजन कम करने के लिए संघर्ष करते हैं। एक साख दिनचर्या को निभाने के प्रण के साथ हम अक्सर दिन में होने वाली चीज़ों को नही निभा पते जिसके कारण हम खुद को अनुशासित करने में आसफल हो जाते हैं. खुद से आपको खुद में एक ताल मेल बैठना होगा जिसके लिए खुद से बात करना ज़रूरी है और ये न भूलें की रिलैप्स और चीट डे एक सफल वजन घटाने की यात्रा का हिस्सा हैं और आपको अपना वजन घटाने की यात्रा जारी रखने से नहीं रोकना चाहिए।

४. आत्म-शरीर की छवि को सुधारें:

अकसर हम खुद से नाराज़ होने लगते है और अपने वर्तमान के शरीर का अपने पहले के शरीर से तुलना करने लगते है. ऐसा करने से खुद के लिए एक नकारात्मक उर्जा पैदा होती है जो हमे सम्पूर्ण रूप से चोट पहुंचती है, हमारे मानसिक स्वास्थ्य और वजन घटाने की यात्रा के बीच संबंधों को सुधारने की दिशा में सबसे पहले आत्म-छवि के साथ हमारे संबंधों को बेहतर बनाना है। आपको सकारात्मक पुष्टि का प्रयास करना चाहिए और अपने वर्तमान स्व के साथ बेहतर संबंध का संचार करना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by वैशाली शर्मा

Comments

Fetching more content...