Create
Notifications

जानिए लौकी का जूस कितनी मात्रा में और कब पीना चाहिए-Lauki Ka Juice Kab Aur Kitni Matra Me Pina Chaiye

जानिए लौकी का जूस कितनी मात्रा में और कब पीना चाहिए(फोटो-Sportskeeda hindi)
जानिए लौकी का जूस कितनी मात्रा में और कब पीना चाहिए(फोटो-Sportskeeda hindi)
reaction-emoji
Rakshita Srivastava
visit

हरी सब्जियों का सेवन स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है, क्योंकि हरी सब्जियां पोषक तत्वों से भरपूर होती है। हरी सब्जियों में भी अगर बात लौकी की जाए तो इसका सेवन स्वास्थ्य को अनगिनत लाभ पहुंचाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं लौकी की सब्जी से भी ज्यादा लौकी का जूस ((bottle gourd juice) स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि सब्जी में तेल मसाले का इस्तेमाल होता है। लेकिन एक ताजे लौकी के जूस में सभी पोषक तत्व मौजूद होते हैं, इसलिए इसके जूस का सेवन करने से कई बीमारियां दूर होती है। लौकी में विटामिन बी, विटामिन सी, आयरन, फाइबर और पोटैशियम जैसे तत्व पाये जाते हैं। जो स्वास्थ्य के लिहाज से काफी लाभदायक साबित होते हैं। लेकिन अगर आप लौकी के जूस का गलत समय और गलत मात्रा में सेवन करते हैं, तो यह आपके स्वास्थ्य को फायदे की जगह नुकसान पहुंचा सकते हैं, इसलिए लौकी के जूस का सेवन सही समय पर और सही मात्रा में ही करना चाहिए। आइए जानते हैं, लौकी के जूस का सेवन कब करना चाहिए और कितनी मात्रा में करना चाहिए।

जानिए लौकी का जूस कितनी मात्रा में और कब पीना चाहिए (Lauki Ka Juice Kab Aur Kitni Matra Me Pina Chaiye In Hindi)

इस समय करें लौकी के जूस का सेवन

लौकी के जूस का सेवन अगर आप सुबह खाली पेट करते हैं, तो यह आपके स्वास्थ्य को अनगिनत लाभ पहुंचाते हैं। क्योंकि सुबह खाली पेट लौकी का जूस पीने से शरीर में एनर्जी (Energy) भी बनी रहती है, साथ ही कई और बीमारियां भी दूर होती है।

जानिए कितनी मात्रा में करना चाहिए सेवन

लौकी के जूस का सेवन एक दिन में एक गिलास से अधिक मात्रा में नहीं करना चाहिए, क्योंकि अगर आप अधिक मात्रा में सेवन करते हैं, तो यह आपके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है। जिससे आप कई बीमारी के शिकार भी हो सकते हैं।

लौकी का जूस पीने के फायदे

- वजन कम करने में मददगार

- कोलेस्ट्रॉल लेवल होता है कंट्रोल

- पाचन तंत्र को बनाता है मजबूत

- कब्ज की शिकायत होती है दूर

- रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है

- शरीर में बनी रहती है ठंडक

- बॉडी डिटॉक्स करने में मददगार

- हाई ब्लड प्रेशर को करता है नियंत्रित

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Rakshita Srivastava
reaction-emoji
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now