बरसात में कौन से फल खाने चाहिए? - Barsat Me Konsa Fal Khana Chahiye

बरसात में कौन से फल खाने चाहिए? ( फोटो - Sportskeeda Hindi )
बरसात में कौन से फल खाने चाहिए? ( फोटो - Sportskeeda Hindi )

बारिश के मौसम Rainy season में हमें अपनी सेहत का ज्यादा ध्यान रखना पड़ता है। क्योंकि मौसम बदलता है जिसके कारण कई बीमारियां होने का खतरा बना रहता है। लेकिन अगर हम अपना खान पान सही रखेंगे, तो इस परेशानी से बचा जा सकता है। बारिश आते ही हम अक्सर फलों का सेवन करना भी कम कर देते हैं। ऐसे में आप जल्दी ही किसी भी बीमारी के चपेट में आ सकते हैं। इसके लिए हमें बारिश मे कौन से फलों का सेवन करना चाहिए। जिससे हम बरसात में भी खुद को फिट रख सके आइए जानते हैं इस लेख के जरिए।

बरसात में कौन से फल खाने चाहिए?

सेब (Apple) - बीमारियों से दूर रहना चाहते हैं तो रोजाना एक सेब का सेवन जरूर करें। सेब खाना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है और सेब एक ऐसा फल है जिसे आप सारे मौसम में इसका सेवन कर सकते हैं। सेब के सेवन से आपको भरपूर एनर्जी (Energy) मिलेगी। इसमें भरपूर मात्रा में डाइट्री फाइबर्स मौजूद होते हैं जिससे पाचन क्रिया सही बनी रहती है और यही नहीं यदि आप बारिश में भी सेब को खाते हैं तो इससे पाचन तंत्र सही बना रहेगा।

लीची (Lychee) - बरसात में लीची बहुत आती है। लीची में विटामिन सी मौजूद होता है। साथ ही खाने में ये बेहद ही स्वादिष्ट होती है। बरसात में यदि आप लीची का सेवन करते हैं तो इससे सेहत Health सही बनी रहेगी और इसके सेवन से इम्यूनिटी भी बढ़ेगी।

आलूबुखारा - बारिश के मौसम में आलूबुखारा (Plum) भी शामिल है। आलूबुखारा में विटामिन सी, मिनरल्स, विटामिन और फाइबर Fiber भरपूर मात्रा में पाया जाता है। आलूबुखारा में कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है। आलूबुखारा के सेवन से इम्यूनिटी बूस्ट होती है और बॉडी में इलेक्ट्रोलाइट बैलेंस करने में मदद मिलती है।

पपीता (Papaya) - पपीता में एंटीऑक्सीडेंट गुण और फाइबर की मात्रा मौजूद होती है। इसी कारण से पपीता बहुत जल्दी पच जाता है। इसे आप मानसून में खा सकते हैं। पपीता में विटामिन ए, विटामिन सी और फाइबर होता है यही नहीं, पपीते में पपैन papain नामक एंजाइम भी मौजूद होता है, जिससे पाचन प्रक्रिया में सहायता मिलती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।