COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

जिम में वर्कआउट करने के बाद शरीर में 2-3 दिन तक दर्द क्यों रहता है ?

58   //    26 Jul 2018, 13:02 IST

युवाओं के लिए जिम जाना और अच्छी बॉडी बनाना एक ट्रेंड बन गया है। आजकल जिम में आप हर उम्र में लोगों को वर्कआउट, एक्सरसाइज़ करते हुए देख सकते हैं, इनमें युवा लड़के, लड़कियां और बुजुर्ग भी होते हैं। अगर आप जिम जाते हैं या कोई एक्सरसाइज़ शुरु करते हैं, तो जरूर इस बात पर ध्यान दिया होगा कि एक्सरसाइज़ करने के बाद आपके शरीर में कुछ दिन तक दर्द रहता है। आखिर एक्सरसाइज़ के बाद कुछ दिनों तक दर्द क्यों रहता है? क्या ये कमजोरी की वजह से होता है या कोई अलग कारण है ?

दरअसल हमारे पूरे शरीर में मसल्स का जाल सा फैला हुआ है, जब भी हम एक्सरसाइज़ करते हैं, तो मसल्स के ऊपर दवाब पड़ता है। दबाव पड़ने की वजह से हमारे शरीर की मसल्स टूट जाती हैं या अपनी जगह से हट जाती हैं। इसको आसान शब्दों में कहा जाए तो शरीर की सोई हुई मसल्स जाग जाती हैं।

मान लीजिए आपने जिम जाकर शोल्डर या बाइसेप्स या कोई और एक्सरसाइज़ की, तो अगले दिन आप अपने कंधे और बाजू में दर्द महूसस करेंगे क्योंकि वर्कआउट करने की वजह से आपके शरीर के उस हिस्से की मसल्स पर प्रेशर पड़ता है। प्रेशर की वजह से मसल्स टूट जाती हैं। इस वजह से उस हिस्से में 2-3 दिन दर्द रहता है।

वर्कआउट या एक्सरसाइज़ के बाद होने वाले दर्द से घबराने की जरूरत नहीं है। ये दर्द अपने आप ठीक हो जाएगा। शरीर के जिस हिस्से में ज्यादा मसल्स होंगी, वहां ज्यादा दर्द रहेगा और ऐसा सबके साथ होता है। भले ही आप पहले दिन जिम जा रहे हों या फिर कई सालों से जिम जा रहे हों।

आपने देखा होगा कि जिम जाने वाले लोग लेग डे (पैरो, जांघों) की एक्सरसाइज़ के बाद काफी दर्द में रहते हैं और उन्हें चलने में परेशानी होती है। लेग्स की एक्सरसाइज़ के बाद ज्यादा दर्द इसलिए होता है क्योंकि वहां सबसे ज्यादा मसल्स होती हैं। कूल्हे, जांघों और पैर की मसल्स पर एक साथ प्रेशर पड़ता है और इस वजह से उनमें ज्यादा दर्द रहता है।

मसल्स का टूटना अच्छा रहता है। एक्सरसाइज़ के बाद अच्छी डाइट और आराम के बाद से इसमें फायदा होता है।

Advertisement
Fetching more content...