पीठ में क्यों होते हैं मुंहासे, जानिए कारण और बचाव के उपाय 

पीठ में क्यों होते हैं मुंहासे, जानिए कारण और बचाव के उपाय
पीठ में क्यों होते हैं मुंहासे, जानिए कारण और बचाव के उपाय

कई लोगों को मुंहासे की समस्या होती है। जिसके कारण कई बार उन्हें पीठ पर भी मुंहासे हो जाते हैं। आकार में ये छोटे और बड़े दोनों हो सकते हैं। किसी को ये पिंपल्स दर्द भी देते हैं, तो किसी को नहीं। इन पिंपल्स के कारण पीठ में बहुत ज्यादा खुजली की समस्या भी होने लगती है। कई बार पीठ पर एक्ने की समस्या सिर में हुई रूसी, एक्सरसाइज के बाद बहुत देर तक पसीने में रहना, मृत त्वचा कोशिकाओं के जमाव, बंद रोमछिद्र, भीगे कपड़ों का ना बदलना, खराब फैब्रिक के और अनकंफर्टेबल कपड़े पहनना, जिससे पीठ की त्वचा पर घर्षण होने से भी एक्ने की समस्या होने लगती है। इसके अलावा कुछ लोगों में पीठ पर सेबेसियस ऑयल ग्लैंड के अधिक एक्टिव होने से भी एक्ने होने लगते हैं। लेकिन आपको बता दें कि कुछ उपाय करके इस समस्या को सुलझाया जा सकता है। उसके लिए आपको इस लेख को आगे पढ़ना होगा।

youtube-cover

पीठ में क्यों होते हैं मुंहासे, जानिए कारण और बचाव के उपाय Why do pimples occur on the back, know the reasons and preventive measures in hindi

पीठ पर लगाएं एलोवेरा जेल (Apply aloe vera gel on back) - एलोवेरा जेल में एंटी इंफ्लेमेटरी और शीतलन गुण होते हैं। जिसको पीठ पर लगाने से दानों में हुई खुजली, जलन, रेडनेस, में बहुत हद तक आराम मिलता है। साथ ही इसमें पाए जाने वाले एंटीफंगल गुण दाने को कम करने में मदद करता है। इसको आप नहाने के बाद लगा सकते हैं। जिससे काफी समय तक इसका असर बना रहेगा और आपकी त्वचा काफी देर तक हाइड्रेट बनी रहेगी।

टी ट्री ऑयल का करें उपयोग (Use tea tree oil) - टी ट्री ऑयल एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होता है। इस ऑयल को पीठ पर लगाने से एक्ने या मुंहासों की समस्या को कुछ ही दिनों में ठीक किया जा सकता है। यदि आपको भी पीठ पर दाने, मुंहासे होते हैं, तो टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल करना शुरू कर दें। इसका उपयोग आप नहाने के बाद ही करें। जिससे इसका असर बना रहे।

चंदन का तेल (sandalwood oil) - चंदन में एंटीसेप्टिक गुण मौजूद होते हैं। जिसका उपयोग पीठ के दानों पर करने से जलन, खुजली और लालपन जैसी समस्या से आराम मिल सकता है। इसका आप रोजाना अगर नियमित तौर पर लगाएंगे। तो कुछ ही दिनों में एक्ने से छुटकारा मिल सकेगा।

नीम का तेल (Neem oil) - जिस तरह से नीम बहुत ही गुणकारी होती है। उसी तरह नीम का तेल भी बेहद गुणकारी होता है। नीम के तेल को पीठ पर लगाने से कुछ ही दिनों में दाने बैठने लगते हैं और दानों में खुजली, लालपन जैसी समस्या में भी आराम मिलता है। इससे निपटने के लिए आपको इसका रोजाना इस्तेमाल करना होगा। तभी आप पीठ में हुए दाने की समस्या से निजात पा सकते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Shilki
App download animated image Get the free App now