हमें विटामिन D का सेवन क्यों करना चाहिए और इसके क्या फायदे हैं?

Why should we consume Vitamin D and what are its benefits?
हमें विटामिन D का सेवन क्यों करना चाहिए और इसके क्या फायदे हैं?

विटामिन डी, जिसे सनशाइन विटामिन के रूप में भी जाना जाता है, एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व है जिसकी हमारे शरीर को समग्र स्वास्थ्य और भलाई बनाए रखने के लिए आवश्यकता होती है। यह कैल्शियम और फास्फोरस के अवशोषण और नियमन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, जो मजबूत हड्डियों और दांतों को बनाने और बनाए रखने के लिए आवश्यक हैं।

इसके अतिरिक्त, विटामिन डी को हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली, हृदय स्वास्थ्य और मस्तिष्क के कार्य पर महत्वपूर्ण प्रभाव के लिए जाना जाता है।

विटामिन डी के प्राथमिक स्रोतों में से एक सूरज की रोशनी है।

जब हमारी त्वचा सूर्य के संपर्क में आती है, तो यह स्वाभाविक रूप से विटामिन डी का उत्पादन करती है, जिसे बाद में लीवर और किडनी द्वारा सक्रिय रूप में परिवर्तित कर दिया जाता है। हालाँकि, बहुत से लोग अपनी जीवनशैली, स्थान, या अन्य कारकों जैसे सनस्क्रीन पहनने या कवर करने के कारण पर्याप्त धूप में नहीं पहुँच पाते हैं। इससे विटामिन डी की कमी हो सकती है, जो दुनिया भर में तेजी से आम होती जा रही है।

विटामिन डी की पर्याप्त मात्रा का सेवन करने के कुछ लाभ इस प्रकार हैं:

मजबूत हड्डियां और दांत:

विटामिन डी के प्राथमिक स्रोत!
विटामिन डी के प्राथमिक स्रोत!

कैल्शियम के अवशोषण और उपयोग के लिए विटामिन डी आवश्यक है, जो मजबूत हड्डियों और दांतों को बनाने और बनाए रखने के लिए एक महत्वपूर्ण खनिज है। पर्याप्त विटामिन डी के बिना, हमारे शरीर कैल्शियम को कुशलतापूर्वक अवशोषित नहीं कर सकते हैं, जिससे कमजोर हड्डियां और फ्रैक्चर का खतरा बढ़ सकता है।

पुरानी बीमारियों का जोखिम कम:

शोध से पता चला है कि विटामिन डी हृदय रोग, मधुमेह और कुछ प्रकार के कैंसर सहित कई पुरानी बीमारियों के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है। एक अध्ययन में पाया गया कि विटामिन डी के उच्च स्तर वाले लोगों में कोलोरेक्टल कैंसर होने का जोखिम 30% कम था।

youtube-cover

बेहतर प्रतिरक्षा कार्य:

विटामिन डी हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को विनियमित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और संक्रमण और बीमारियों से बचाने में मदद कर सकता है। अध्ययनों से पता चला है कि विटामिन डी के निम्न स्तर वाले लोग फ्लू और सामान्य सर्दी जैसे श्वसन संक्रमण के प्रति अधिक संवेदनशील होते हैं।

उन्नत मस्तिष्क कार्य:

माना जाता है कि विटामिन डी का मस्तिष्क के कार्य पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है, जिसमें मनोदशा, स्मृति और संज्ञानात्मक प्रदर्शन शामिल हैं। कुछ अध्ययनों ने सुझाव दिया है कि विटामिन डी के निम्न स्तर को अवसाद, अल्जाइमर रोग और अन्य संज्ञानात्मक विकारों के बढ़ते जोखिम से जोड़ा जा सकता है।

बेहतर मांसपेशी समारोह:

मांसपेशियों के कार्य के लिए विटामिन डी आवश्यक है और विशेष रूप से वृद्ध वयस्कों में मांसपेशियों की ताकत और संतुलन में सुधार करने में मदद कर सकता है। एक अध्ययन में पाया गया कि विटामिन डी के पूरक ने वृद्ध वयस्कों में 22% तक गिरने का जोखिम कम कर दिया।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by वैशाली शर्मा
App download animated image Get the free App now