Create

घुटनों से आती है टक-टक की आवाज तो करें ये 4 योगासन : Ghutno Se Aate Hai Tak-Tak Ki Awaaz Toh Kare Yee 4 Yogasan

घुटनों से आती है टक-टक की आवाज तो करें ये 4 योगासन (फोटो - sportskeeda hindi)
घुटनों से आती है टक-टक की आवाज तो करें ये 4 योगासन (फोटो - sportskeeda hindi)

आज के समय में शारीरिक एक्टिविटी की कमी की वजह से लोगों में कई तरह की समस्या देखने को मिलती है, जिसमें से घुटनों में दर्द और गठिया की समस्या आम है। व्यक्ति के घुटने जब कमजोर हो जाते हैं तो इसके कारण घुटनों से कट-कट की आवाज आने लगती है। घुटनों से जुड़ी तमाम समस्याओं से बचाव के लिए योग का नियमित अभ्यास बहुत फायदेमंद माना जाता है। घुटनों से टक-टक की आवाज से छुटकारा पाने के लिए आप इन 4 योगासनों का अभ्यास कर सकते हैं। आइये जानते हैं इनके बारे में।

घुटनों से आती है टक-टक की आवाज तो करें ये 4 योगासन : Ghutno Se Aate Hai Tak-Tak Ki Awaaz Toh Kare Yee 4 Yogasan In Hindi

पद्मासन (Padmasana) -

पद्मासन (Padmasana) (फोटो - sportskeeda hindi)
पद्मासन (Padmasana) (फोटो - sportskeeda hindi)

पद्मासन का अभ्यास सेहत के लिए फायदेमंद होता हैं लेकिन विशेष रूप से यह रीढ़ की हड्डी और पैरों व घुटनों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। पद्मासन का नियमित अभ्यास करने से जांघ, टखने, घुटने और पैरों को बहुत फायदा मिलता है। शरीर को लचीला और स्वस्थ बनाने में भी पद्मासन का अभ्यास फायदेमंद माना जाता है।

बद्ध कोणासन (Baddha Konasana or Cobbler Pose) -

बद्ध कोणासन (Baddha Konasana or Cobbler Pose) (फोटो - sportskeeda hindi)
बद्ध कोणासन (Baddha Konasana or Cobbler Pose) (फोटो - sportskeeda hindi)

घुटनों और पैरों को मजबूत बनाने के लिए बद्ध कोणासन का अभ्यास बेहद फायदेमंद माना जाता है। इस आसन को किसी भी उम्र में किया जा सकता है।

वीरासन (Virasana or Hero Pose) -

वीरासन (Virasana or Hero Pose) (फोटो - sportskeeda hindi)
वीरासन (Virasana or Hero Pose) (फोटो - sportskeeda hindi)

शरीर का भारीपन दूर करने के वीरासन बहुत लाभकारी होता है। इस आसन से शरीर के कई अंगों को बेहद मजबूती मिलती है। हठ योग में इस आसन को बहुत महत्तवपूर्ण आसन माना जाता है। इस मुद्रा में आने से आपकी शरीर का पिछला हिस्सा संतुलित रहता है।

मालासन (Malasana or Squat Or Garland Pose) -

मालासन (Malasana or Squat Or Garland Pose) (फोटो - sportskeeda hindi)
मालासन (Malasana or Squat Or Garland Pose) (फोटो - sportskeeda hindi)

मालासन का नियमित अभ्यास करने से घुटनों को मजबूत करने के साथ-साथ बैक से जुड़ी कई समस्याओं में फायदा मिलता है। इस आसन का नियमित अभ्यास पीठ की मांसपेशियों के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment