आप भी तो नहीं यूरिक एसिड का शिकार, जानिये ये संकेत 

आप भी तो नहीं यूरिक एसिड का शिकार, जानिये ये संकेत
आप भी तो नहीं यूरिक एसिड का शिकार, जानिये ये संकेत

आजकल गलत खानपान के चलते, अनियमित जीवनशैली के कारण कई तरह की बीमारियां लोगों को पकड़ रही हैं। इसी में से एक है यूरिक एसिड। ज्यादा प्यूरिन युक्त खाद्य पदार्थ के सेवन से शरीर में अधिक मात्रा में यूरिक एसिड जमने लगता है। यूरिक एसिड की बीमारी काफी खतरनाक साबित हो सकती है। क्योंकि यूरिक एसिड बढ़ने की वजह से हार्ट, किडनी स्टोन (Kidney stone), गठिया जैसी बीमारी हो सकती है। इसलिए यूरिक एसिड को कंट्रोल करना बहुत जरूरी होता है। कई बार लोगों को यूरिक एसिड की समस्या होना शुरू हो जाती है, जिसके बारे में उन्हें, जानकारी न होने की वजह से मालुम नहीं पड़ता और उसे अनदेखा कर देतें हैं, जो कि किसी बड़ी बीमारी का रूप ले सकता है। इसलिए आज इस लेख में हम आपको बताएंगे कि यूरिक एसिड बढ़ने पर किस तरह के लक्षण आपको दिखाई पड़ सकते हैं। तो चलिए जानते हैं।

आप भी तो नहीं यूरिक एसिड का शिकार, जानिये ये संकेत You are also not a victim of uric acid, know these signs in hindi

जोड़ो में दर्द (Joint pain) - यूरिक एसिड बढ़ने पर व्यक्ति को जोड़ो में दर्द की समस्या शुरू होने लगती है। जो कि आजकल ज्यादातर लोगों में दिखाई देती है। लेकिन लोग इसे अक्सर अनदेखा कर देते हैं। लेकिन आपको बता दें कि ये यूरिक एसिड बढ़ने का संकेत भी हो सकता है। अगर आपको भी ऐसी समस्या है, तो एक बार टेस्ट जरूर करवाएँ।

उंगलियों में सूजन (swollen fingers) - यूरिक एसिड बढ़ने पर अक्सर हाथों और पैरों की उंगलियों में सूजन आने लगती है। इसके साथ ही दर्द भी महसूस हो सकता है। अगर आपको भी ऐसी परेशानी हो रही है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

बार बार यूरिन जाना (passing urine frequently) - अगर आपको बार बार यूरिन पास हो रही है, तो ये भी एक संकेत हो सकता है यूरिक एसिड बढ़ने का। इस चीज को अनदेखा किए बिना डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

जोड़ो में सूजन (swollen joints) - जोड़ों में सूजन की परेशानी भी आपको यूरिक एसिड का शिकार बना सकती है। जोड़ो में सूजन होने से कई बार आपको उठने और बैठने की भी समस्या शुरू हो सकती है। अगर आप इस समस्या से जूझ रहे हैं, तो डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

youtube-cover

किडनी स्टोन : यूरिक एसिड के क्रिस्टल्स यूरिन की नली में जमा होकर किडनी स्टोन्स बन जाते हैं। कई बार यह समस्या इतनी ज्यादा बढ़ जाती है कि मरीज को हॉस्पिटल में भर्ती करवाना पड़ता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Shilki